Home » बिज़नेस » General Motors Is Re-Assessing Its India Investment
 

जनरल मोटर्स ने रोका भारत में 100 करोड़ डॉलर का निवेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2016, 14:17 IST

अमेरिकी कार कंपनी जनरल मोटर्स ने भारत में 100 करोड़ डॉलर (करीब 67 अरब रुपये) के निवेश की योजना पर फिलहाल रोक लगा दी है. 

फोर्ब्स के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में डीजल कारों पर प्रतिबंध और छोटे कारों की ज्यादा मांग होने के चलते कंपनी दोबारा अपनी योजना का मूल्यांकन कर रही है.

पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में 2000 सीसी से ज्यादा की नई डीजल कारों और एसयूवी गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी है. 

उम्मीद जताई जा रही है कि देश के अन्य बड़े शहरों में भी डीजल कारों पर प्रतिबंध लग सकता है. इस वजह से कंपनी कोभारत में निवेश को लेकर विचार करना पड़ रहा है. 

यह थोड़ा आश्चर्यजनक है. भारत दुनिया के उभरते वाहन बाजारों में से एक है. भारत में सालाना आठ फीसदी की दर से कार बाजार बढ़ता जा रहा है. 

एक अनुमान के अनुसार 2020 तक भारत दुनिया का सबसे बड़ा वाहन बाजार बन जाएगा. भारत में अभी एक हजार लोगों में से 18 लोगों के पास कार हैं जबकि अमेरिका में यह आंकड़ा 800 लोगों का है.

भारत में अभी छोटे कारों की मांग ज्यादा है. एक रिपोर्ट के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले 40 फीसदी लोग छोटी कारों को तरजीह देत हैं. जबकि शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोग अच्छी कारों को कम कीमत में खरीदना चाहते हैं. अमेरिकी शेयर बाजार में जहां जनरल मोटर्स के शेयरों में एक फीसदी की गिरावट आई है. 

कंपनी के निर्यात में बढ़ोतरी हुई है. इस साल अप्रैल-मई में कंपनी ने 7,217 कारें निर्यात की हैं जबकि पिछले साल इसी अवधि में ये आंकड़ा 590 था. कंपनी ने अगले साल तक 21.3 लाख कारों को बेचने का लक्ष्य रखा है.

First published: 30 July 2016, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी