Home » बिज़नेस » Gold Price Today: Big change in gold prices, know today 22 carat prices in Delhi, Lucknow and Patna
 

Gold Price Today: सोने की कीमतों में हुआ बड़ा बदलाव, जानिए आज दिल्ली, लखनऊ और पटना में 22 कैरेट के दाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2021, 11:54 IST

Gold Price Today: भारत में आज सोने और चांदी की कीमतों में इजाफा हुआ. एमसीएक्स पर सोने का वायदा 0.3 फीसदी बढ़कर 46,340 प्रति 10 ग्राम हो गया, जो पिछले सत्र में 45,861 के आठ महीने के निचले स्तर तक फिसल गया था. एमसीएक्स पर चांदी वायदा 0.8 फीसदी उछलकर 69590 पर पहुंच गया. वैश्विक बाजारों में सोने की कीमतें पिछले सत्र में सात महीने के निचले स्तर पर पहुंचने के बाद उच्च स्तर पर पहुंच गई. सोना हाजिर 0.3 फीसदी बढ़कर 1,787.31 डॉलर प्रति औंस हो गया.

आज नई दिल्ली में 22 कैरेट सोने की कीमत 10 रुपये बढ़कर 45,410 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई, जबकि चेन्नई में यह 43,770 रुपये तक थी. मुंबई में यह दर 45,130 रुपये थी, जो शुक्रवार के बराबर थी. चेन्नई में 24 कैरेट सोने की कीमत 10 रुपये बढ़कर 47,750 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई. लखनऊ में 22 कैरेट सोने के दाम 45410 प्रति 10 ग्राम और पटना में 45130 प्रति 10 ग्राम थे.


अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतें शुक्रवार के सात महीनों से अधिक के न्यूनतम स्तर पर गिर गई थी. स्पॉट गोल्ड 0.4 फीसदी गिरकर 1,769.03 प्रति औंस पर आ गया, जो 2 जुलाई के बाद के सबसे कम है. इस सप्ताह अब तक कीमतों में 3 फीसदी की गिरावट आई है. अमेरिकी सोना वायदा 0.6 फीसदी लुढ़ककर 1,765.30 डॉलर प्रति डॉलर पर आ गया.

बजट 2021 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार सोने और चांदी पर सीमा शुल्क को तर्कसंगत बना रही है. वर्तमान में सोने पर 12.5 प्रतिशत आयात शुल्क (Import Duty) लगती है. सरकार ने सोने और चांदी पर सीमा शुल्क (customs duty) में 12.5 फीसदी से 7.5 फीसदी की कटौती की घोषणा की.

भारतीय अपनी सोने और चांदी की जरूरतों का थोक आयात करता है. वित्त मंत्री ने कहा कि जुलाई 2019 से ड्यूटी 10 फीसदी बढ़ी थी, इसलिए सोने की कीमतों में तेजी से वृद्धि हुई है और इसे पिछले स्तर के करीब लाने के लिए हम सोने और चांदी पर कस्टम ड्यूटी को तर्कसंगत बना रहे हैं.

सोने पर आयात शुल्क को 7.5 फीसदी तक कम करना जेम्स एंड ज्वैलरी उद्योग की लंबे समय से चली आ रही मांग थी. अधिक आयात शुल्क न केवल अप्रत्यक्ष रूप से अवैध सोने के लेनदेन को बढ़ावा दे रहा था, बल्कि सरकार के राजस्व को भी नुकसान पहुंचा रहा था. माना जा रहा है कि इससे तस्करी पर भी लगाम लगेगी.

जेम एंड ज्वैलरी उद्योग ने आगामी केंद्रीय बजट 2021-22 में सोने पर सीमा शुल्क में चार प्रतिशत की कटौती करने की मांग की थी. ऑल इंडिया जेम एंड ज्वेलरी डोमेस्टिक काउंसिल (जीजेसी) के चेयरमैन आशीष पेठे ने पीटीआई से कहा, '' हम सरकार से सीमा शुल्क को मौजूदा 12.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत करने का आग्रह करते हैं. यदि कर की दर इस स्तर पर नहीं रखी जाती है, तो यह तस्करी को बढ़ावा देगा.

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (World Gold Council) की नई रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनियाभर में केंद्रीय बैंकों द्वारा 2020 में सोने की खरीद में तेजी से गिरावट आई है. खरीदारी में बड़ी कमी वर्ष की दूसरी छमाही में दर्ज की गई है. 2020 की चौथी तिमाही में केंद्रीय बैंकों ने 44.8 टन की मामूली शुद्ध खरीद की. केंद्रीय गिरकर बैंकों की वार्षिक सोने की खरीद लगभग 60 फीसदी गिरकर 272.9 टन रही.

भारत में क्यों बढ़ रही हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, पेट्रोलियम मिनिस्टर ने बताये ये दो कारण

 

First published: 22 February 2021, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी