Home » बिज़नेस » Google tracks your location, even when you tell it not to do so, Android devices and iPhones store your location data
 

फोन पर लोकेशन ऑफ करने के बाद भी गूगल रिकॉर्ड करता है आपकी गतिविधि : रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 August 2018, 13:00 IST

आप कब कहां जाते हैं, इसका पता शायद किसी को हो न हो लेकिन गूगल को इसकी पूरी जानकारी होती है. अगर आप सोचते हैं कि आपने अपने स्मार्टफोन पर विभिन्न ऐप्स के जरिये अपनी लोकेशन ऑफ़ कर दी है और अब आपकी गतिविधि का किसी को पता नहीं है तो आप सही नहीं सोचते हैं. एक रिसर्च से यह बात सामने आयी है कि गूगल आपकी अनुमति के बगैर भी आपकी पूरी गतिविधियों को रिकॉर्ड करता है.

एसोसिएटेड प्रेस की जांच में पाया गया कि एंड्रॉइड डिवाइस और आईफ़ोन पर कई Google सेवाएं आपके लोकेशन डेटा को स्टोर करती हैं भले ही आपने गोपनीयता सेटिंग का उपयोग किया हो जो कहता है कि यह Google को ऐसा करने से रोक देगा.

रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि Google आपकी स्थान जानकारी का उपयोग करने की अनुमति मांगने में सबसे आगे है. यदि आप नेविगेट का उपयोग करते हैं तो Google मैप ऐप आपको स्थान तक पहुंच की अनुमति देने के लिए याद दिलाएगा. यदि आप अपनी लोकेशन रिकॉर्ड करने के लिए सहमत हैं, तो Google मैप आपकी गतिविधि को रिकॉर्ड करेगा.

हालांकि मिनट-दर-मिनट आपकी लोकेशन को स्टोर करना गोपनीयता के लिए जोखिम हो सकता है. अकसर संदिग्धों के को ट्रैक करने के लिए पुलिस द्वारा इसका उपयोग किया जाता है. जैसे उत्तरी कैरोलिना में पुलिस ने पिछले साल Google पर एक हत्या दृश्य के पास डिवाइस खोजने के लिए इसका इस्तेमाल किया था.

Google कहता है कि इसे रोकने के लिए लोकेशन हिस्ट्री को पॉज कर सकते हैं. गूगल का कहना है ऐसा करने से कंपनी लोकेशन की जानकारी स्टोर नहीं करती है लेकिन रिसर्च में यह सच नहीं पाया गाय है. पॉज करने के बाद भी कुछ एप ऑटोमैटिक रूप से लोकेशन का डाटा स्टोर करते रहते हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि जैसे ही आप गूगल मैप ऑन करते हैं, तुरंत आपकी लोकेशन का स्नैपशॉट गूगल पर उनके अकाउंट में पहुंच जाता है. सर्चिंग के दौरान भी डेटा स्टोर होता रहता है.

ये भी पढ़ें : स्वतंत्रता दिवस से पहले रुपये में रिकॉर्ड गिरावट, पहुंचा 70.07 पैसे प्रति डॉलर पर

First published: 14 August 2018, 12:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी