Home » बिज़नेस » Government of india reduced esi contribution rates
 

मोदी ने 3.6 करोड़ कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, अब सैलेरी से कटेंगे कम पैसे

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2019, 11:11 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरी बार सत्ता में जब से आए हैं, तब से आम जनता के लिए कुछ ना कुछ बड़े फैसले कर रहे हैं. इसी कड़ी में उन्होंने एक और बड़ा फैसला लिया है. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब ESI अंशदान की दर को घटा दिया है. इस एक्ट के तहत पहले ESI कटने की दर 6.5 फीसदी थी, जिसे घटाकर चार फीसदी कर दी गई है.

इसमें नियोक्ताओं का अंशदान ESI में 4.75 फीसदी से घटाकर 3.25 फीसदी कर दिया गया है. वहीं, अब कर्मचारियों को 1.75 फीसदी के जगह पर 0.75 फीसदी अंशदान देना होगा. ये फैसला एक जुलाई 2019 से लागू कर दिया जाएगा. 

इस फैसले से अब हर साल 12.85 लाख नियोक्ताओं को 5,000 करोड़ रुपए की बचत होगी. साथ ही इससे 3.6 करोड़ कर्मचारी लाभान्वित होंगे.

मालूम हो कि वित्तीय वर्ष 2018-2019 में लगभग 12.85 लाख नियोक्ताओं और 3.6 करोड़ कर्मचारियों ईएसआई योजना के तहत 22,279 करोड़ रुपये का अंशदान किया था. सरकार के इस फैसले के बाद इन कंपनियों को सालाना 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का फायदा होगा.

श्रम मंत्रालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया, "अंशदान की घटी हुई दर से कामगारों को बहुत राहत मिलेगी. इससे और अधिक कामगारों को ईएसआई योजना के अंतर्गत नामांकित कर पाना तथा ज्यादा से ज्यादा श्रमिक बल को औपचारिक क्षेत्र के अंतर्गत लाना आसान हो सकेगा."

जारी विज्ञप्ति में कहा गया है, "कर्मचारी राज्य बीमा कानून, 1948 के अंतर्गत बीमित व्यक्तियों को चिकित्सा, नकदी, मातृत्व, निशक्तता और आश्रित होने के लाभ प्रदान करता है. ईएसआई कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) द्वारा प्रशासित है. ईएसआई कानून के अंतर्गत उपलब्ध कराए जाने वाले लाभ नियोक्ताओं और कर्मचारियों द्वारा किए गए अंशदान के माध्यम से वित्त पोषित होते हैं."

विज्ञप्ति में कहा गया, "सरकार ने सामाजिक सुरक्षा कवरेज अधिक से अधिक लोगों को देने के लिए दिसंबर 2016 से जून 2017 तक नियोक्ता और कर्मचारियों के विशेष पंजीकरण का कार्यक्रम शुरू किया है. योजना का करवेज लाभ विभिन्न चरणों में देश के सभी जिलों तक बढ़ाने का फैसला किया गया है. कवरेज में वेतन की सीमा एक जनवरी 2017 से 15,000 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 21,000 रूपये प्रति माह की गई है."

BJP सरकार की किसानों को सबसे बड़ी सौगात, सिर्फ 15 दिनों में मिलेगा 3 लाख रुपये का लाभ

First published: 14 June 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी