Home » बिज़नेस » GST collection crosses 1 lakh crore for the first time after lockdown, Modi government gets big relief
 

लॉकडाउन के बाद पहली बार GST संग्रह 1 लाख करोड़ के पार, मोदी सरकार को मिली बड़ी राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2020, 9:06 IST

सितंबर में वस्तु एवं सेवाकर (GST) कलेक्शन एक लाख करोड़ के आंकड़े को पार कर गया. सितंबर में जीएसटी संग्रह से यह 10.2 प्रतिशत बढ़कर आठ महीने के उच्च स्तर 1.05 लाख करोड़ पर रहा. मार्च में लगाए गए लॉकडाउन के बाद आर्थिक गतिविधियों में ढील दिए जाने के बाद जीएसटी संग्रह में पहली बार यह बढ़ोतरी देखी गई है. अक्टूबर 2019 में 5.29 फीसदी गिरावट के साथ जीएसटी राजस्व 95,380 करोड़ रुपये रहा था. 31 अक्टूबर 2020 तक भरे गए GSTR-3B रिटर्न्स की कुल संख्या 80 लाख रही.

फाइनेंस मिनिस्ट्री के मुताबिक अक्टूबर 2020 में ग्रॉस GST रेवेन्यू कलेक्शन 1,05,155 करोड़ रुपये रहा. अक्टूबर के कलेक्शन में CGST 19,193 करोड़ रुपये, SGST- 25,411 करोड़ रुपये और 52,540 करोड़ रुपये करोड़ रुपये IGST रहा. 8,011 करोड़ रुपये का सेस (सामान के इंपोर्ट पर हासिल हुए 932 करोड़ रुपये समेत) शामिल हैं. सितंबर महीने में GST कलेक्शन 95,480 करोड़ रुपये था. अक्टूबर 2020 में GST कलेक्शन पिछले साल के अक्टूबर महीने से 10 फीसदी अधिक है. अक्टूबर 2019 में GST कलेक्शन 95,379 करोड़ रुपये था.


वित्त सचिव अजय भूषण पांडे ने एक इंटरव्यू में कहा कि वस्तु और सेवा कर (जीएसटी)रिकवरी स्थायी है और सरकार विकास को बढ़ावा देने के लिए और कदमों की मांग का मूल्यांकन कर रही है. उन्होंने कहा सरकार का दर्शन और दृष्टिकोण स्थिति की निरंतर निगरानी करना है. अप्रैल में जब लॉकडाउन था, तो हमने पहचान की कि किसे सबसे ज्यादा मदद की जरूरत है और क्या जरूरत है. यह समाज का कमजोर वर्ग था, जिसमें दैनिक मजदूर, एमएसएमई शामिल हैं. सरकार ने 200 मिलियन से अधिक जन धन खाता धारकों और किसानों को नकद सहायता दी. आठ सौ मिलियन लोगों को मुफ्त राशन दिया गया. एमएसएमई को भी सहायता की आवश्यकता थी.

Gold Price Today: सोने की कीमतों में आयी गिरावट, जानिए दिल्ली, पटना और लखनऊ में आज क्या हैं 22 कैरेट के दाम

First published: 2 November 2020, 9:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी