Home » बिज़नेस » GST collections close to 90,000 in March, Intelligence garnered 200 crores cases
 

मार्च में 90,000 करोड़ के करीब रहा GST कलेक्शन, इंटेलिजेंस ने पकडे गए 200 करोड़ के मामले

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2018, 18:29 IST

फाइनेंस सेक्रेटरी हसमुख अधिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि मार्च में जीएसटी रेवेन्यू में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मार्च के अंत तक जीएसटी कलेक्शन करीब 89264 करोड़ रुपए पहुंच गया. जबकि जीएसटी रिफंड 17,616 करोड़ रुपए रहा. फाइनेंस सेक्रेटरी ने कहा कि 2017-18 में डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन टारगेट से ज्‍यादा हो गया है.

जीएसटीएन के सीईओ ने कहा कि रोलआउट के पहले दिन 259,000 ई-वे बिल तैयार किए गए हैं और सोमवार को 3 बजे तक 289,000 ई-वे बिल तैयार किए गए हैं. सीबीडीटी के अध्यक्ष ने कहा पिछले साल 54.3 मिलियन के मुकाबले इस साल 68.4 मिलियन आयकर रिटर्न दर्ज किए गए हैं.

एंटी प्रॉफि‍टिंग के मामले पर हसमुख अढिया ने कहा कि इसके जरिए अभी तक 200 शिकायतें मिली है. वहीं जीएसटी इंटेलिजेंस ने अब तक करीब 200 करोड़ रुपए के ऐसे मामले पककड़े हैं जिनमें जीएसटी कलेक्‍ट तो हुई, लेकिन जमा नहीं की गई.

जीएसटी का संग्रह फरवरी में 85174 करोड़ रहा. फरवरी में सीजीएसटी 14945 करोड़, एसजीएसटी 20456 करोड़, आईजीएसटी 42456 करोड़ और कंपनशेसन सेस के तहत 7317 करोड़ रुपए की वसूली हुई है.

जनवरी के मुकाबले फ़रवरी में जीएसटी कलेक्शन में गिरावट दर्ज की गई है. जनवरी के लिहाज से फरवरी में जीएसटी कलेक्शन में 1144 करोड़ रुपए की कमी आई है.

First published: 2 April 2018, 18:26 IST
 
अगली कहानी