Home » बिज़नेस » GST Council okays 5% rate for under-construction properties ahead of polls
 

1 अप्रैल से घर खरीदना होगा सस्ता, जानिए अब कैसे लागू होंगी GST दरें ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2019, 11:19 IST

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने रविवार को अपनी बैठक में निर्माणाधीन मकानों पर जीएसटी दर को घटा दिया है. 45 लाख रुपये से अधिक कीमत वाले फ्लैटों के लिए 1 अप्रैल, 2019 से लागू नई जीएसटी दर 5 प्रतिशत होंगी जो वर्तमान में 12 प्रतिशत है. परिषद ने किफायती आवास पर जीएसटी की दरों में 1 प्रतिशत की कटौती की, जो वर्तमान 8 प्रतिशत है. दोनों मामलों में बिल्डर नई संरचना में इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा करने के लिए पात्र नहीं होंगे.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि संपत्ति विक्रेताओं के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा यह सुनिश्चित करेगी कि अगले वित्त वर्ष में निर्माणाधीन फ्लैटों की लागत में कमी आएगी. अधिकांश विशेषज्ञों ने निर्णय का स्वागत किया है. जानकारों का कहना है कि "यह निर्णय संभावित रूप से खरीदारों के भुगतान को समग्र खरीद मूल्य पर 4-6 प्रतिशत तक कम कर सकता है." अगले तीन वर्षों में 'सभी के लिए आवास' के नीतिगत उद्देश्य को प्राप्त करना है.

 

मेट्रो शहरों में किफायती घर को 60 वर्ग मीटर तक के कालीन क्षेत्र वाले घर के रूप में परिभाषित किया जाएगा और इसकी कीमत 45 लाख रुपये से कम होगी. गैर-महानगरों में 90 वर्ग मीटर तक का एक बड़ा फ्लैट किफायती आवास माना जाएगा, जिसमें लागत कैप 45 लाख से अपरिवर्तित होगी.

वित्त मंत्रालय के अनुसार किफायती आवास को बहुत उदार तरीके से परिभाषित किया गया है. छोटे शहरों में लगभग 95 फीसदी फ्लैट और महानगरों में लगभग एक तिहाई किफायती घर हैं. इसलिए छोटे भारतीय शहरों में आकांक्षात्मक वर्ग अब निर्माणाधीन फ्लैटों पर केवल 1 प्रतिशत जीएसटी का भुगतान करेगा.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों भारी बढ़ोतरी, जानिए आज क्या है तेल का रेट

First published: 25 February 2019, 10:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी