Home » बिज़नेस » GST Intelligence unit unearths Rs 2.2-billion fake tax-invoices scam
 

GST इंटेलिजेंस ने किया फर्जी कंपनियों के करोड़ों के फर्जीवाड़े का भंडाफोड़, ऐसे हो रही थी चोरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 December 2018, 11:54 IST

जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय (DGGI) ने इनपुट-टैक्स क्रेडिट प्राप्त करने के लिए 2.2 बिलियन रुपये के नकली टैक्स चालान बढ़ाने में लगी फर्जी कंपनियों के रैकेट का भंडाफोड़ किया है. डीजीजीआई के अनुसार, तमिलनाडु में चेन्नई और कोयम्बटूर में पिछले गुरुवार को कई आधिकारिक और आवासीय परिसरों में छापेमारी की गई और रैकेट का भंडाफोड़ किया गया.

इस मामले में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है.अतिरिक्त महानिदेशक के के बालाजी मजूमदार ने रविवार को जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा, "फर्जी चालान की प्रतियां सहित कई फर्मों के कागजात, जो केवल कागजों पर मौजूद थे, को जब्त कर लिया गया है."

 

उन्होंने कहा इन मामले मोडस ऑपरेंडी यह थी कि कई फर्जी कंपनियों और बैंक खातों को पैन और आधार संख्या का उपयोग करके परिवार के सदस्यों और कर्मचारियों के लिए बनाया गया था, और माल की आपूर्ति के बिना लेनदेन किया गया था. जब्त दस्तावेजों के अनुसार, माल की आपूर्ति के बिना 2.2 बिलियन रुपये से अधिक के सामान को कवर करने वाले नकली चालान जारी किए गए थे.

अधिकारियों ने कहा कि 45 बैंक खाते, 30 कंपनियों के नाम पर रबर स्टैम्प और कंप्यूटर हार्ड डिस्क से संबंधित चेक-बुक पत्तों के साथ चेकबुक जब्त किये गए हैं. शनिवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और डीजीजीआई ने अस्थायी रूप से संलग्न बैंक खातों को संचालित किया है. गिरफ्तार व्यक्तियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

ये भी पढ़ें : अंबानी ब्रदर्स में नहीं हुआ ये सौदा तो मुश्किल में पड़ सकते हैं देशभर के Jio ग्राहक

First published: 24 December 2018, 11:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी