Home » बिज़नेस » GST: Know five benefits of Goods and Services Tax
 

17 टैक्स से मिली 'आज़ादी': जानिए GST के 5 फ़ायदे

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2017, 12:04 IST

संसद भवन के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक साथ बटन दबाकर जीएसटी यानी गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स को लॉन्च किया. इसके साथ ही 17 अप्रत्यक्ष करों (Indirect Tax) से आज़ादी मिल गई है. एक जुलाई 2017 से एक देश एक टैक्स की परिकल्पना साकार हुई है. एक नज़र जीएसटी से होने वाले पांच फ़ायदों पर:

  1. जीएसटी के लागू होने से अब देश के हर हिस्से में सामान की कीमत एक होगी. मसलन अगर आप किसी बिस्किट का पैकेट या जैम का डिब्बा चाहे लखनऊ में खरीदें या दिल्ली में उस पर एक ही एमआरपी (अधिकतम बिक्री मूल्य) होगी. यानी कई राज्यों में कारोबार करने वाले जीएसटी से फायदे में रहेंगे. एक बात और कोई जीएसटी के नाम पर आपसे एमआरपी से ज्यादा पैसे मांगता हो तो उसे साफ़ मना कर दीजिए. 
  2. बीस लाख तक सालाना कारोबार करने वाले छोटे कारोबारी जीएसटी के दायरे से बाहर हैं. वहीं 75 लाख तक कारोबार करने वालों के लिए भी केंद्र सरकार ने कंपोजीशन स्कीम दी है, जिसमें उन्हें 1, 2 और 5 फीसदी टैक्स ही भरना होगा.
  3. जीएसटी से रोजगार के अवसर बढ़ने की संभावना है. अगले तीन महीने में 50 हजार नई नौकरियां आने की उम्मीद है. जीएसटी लागू होने के साथ ही टैक्स और सॉफ्टवेयर कंपनियों ने जीएसटी के लिए भर्ती भी शुरू कर दी है.
  4. देश की जीडीपी यानी विकास दर जीएसटी के लागू होने से दो फीसदी बढ़ने की संभावना जताई जा रही है. जानकारों का मानना है कि इससे मैन्युफैक्चरिंग कॉस्ट (निर्माण लागत) कम होगी, जिससे फैक्ट्रियों में प्रोडक्शन बढ़ेगा और इसका सीधा असर जीडीपी पर दिखेगा.
  5. जीएसटी के अमल में आने से सब कुछ कागजों में होगा, लिहाजा लोगों को सरकार को टैक्स अदा करना होगा. इसके साथ ही इनकम टैक्स ज़्यादा मिलेगा, जो राजस्व में इज़ाफ़ा करेगा.
First published: 1 July 2017, 12:02 IST
 
अगली कहानी