Home » बिज़नेस » Has the Automationin khadi industries, lost seven lakh jobs in two years?
 

क्या खादी उद्योग में भी आ गया है 'ऑटोमेशन', 6 लाख से ज्यादा नौकरियां गई

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 March 2018, 17:57 IST

क्या खादी उद्योग में काम कर रहे लोगों को अपनी नौकरी बड़ी संख्या में गवांनी पड़ी है. सरकार द्वारा हाल ही में उपलब्ध कराए गए डेटा से पता चलता है कि खादी सेक्टर में कार्यरत लोगों की संख्या 2015-16 और 2016-17 के बीच 11.6 लाख से घटकर 4.6 लाख पर आ गई. खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) से कुछ दिलचस्प लेकिन चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं.

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इन दो सालों में खादी उद्योग में काम करने वाले लगभग सात लाख लोगों की नौकरी जा चुकी है. जबकि इन दो सालों में उत्पादन 31.6 से बढ़कर 33 फ़ीसद तक पहुंच चुका है. केवीआईसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि परंपरागत चरखों को बदलने के बाद आधुनिक चरखों को लगाने से भी इस सेक्टर का रोजगार गया है. हालांकि इससे उत्पादन बढ़ा है लेकिन कामगारों की तादाद में कमी आई है. हालांकि रिपोर्ट में यह साफ़ नहीं किया गया है कि नौकरियां जाने का असल कारण क्या है.

 

कुल 6.8 लाख नौकरियों में आयी गिरावट में 3.2 लाख, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में आयी है. जबकि करीब 1.2 लाख नौकरियां बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा और अंडमान निकोबार में गई हैं.

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत भी रोजगार में 2017-18 में गिरावट पर है. लोकसभा में पेश आंकड़ों मुताबिक 2015-16 में करीब 3.2 लाख लोगों को कार्यक्रम में शामिल किया गया, जो 2016-17 में बढ़कर 4.1 लाख हो गया.

First published: 16 March 2018, 17:57 IST
 
अगली कहानी