Home » बिज़नेस » Hospitality major EIH Ltd Executive Chairman P R S Oberoi says hotels charging over Rs 7,500 in room charges will attract 28 per cent GST wi
 

'पर्यटन उद्योग के लिए 28% GST के होंगे बड़े नुकसान'

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2017, 14:13 IST

हॉस्पिटेलिटी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी ईआईएच लिमिटेड ने बुधवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत 7,500 रुपये से अधिक रूम टैरिफ पर 28 फीसदी कर वसूलने से उद्योग पर नकारात्मक असर पड़ेगा. यह कंपनी 'ओबेरॉय' और 'ट्राइडेंट' नाम से होटल चलाती है.

कंपनी के कार्यकारी अध्यक्ष पीआरएस ओबेरॉय ने यहां आयोजित 67वीं आमसभा में शेयरधारकों से कहा, "7,500 रुपये से अधिक रूम टैरिफ पर 28 फीसदी जीएसटी लगाने पर पर्यटन उद्योग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा तथा आतिथ्य क्षेत्र में रोजगार पर भी इसका असर पड़ेगा."

कंपनी की नवीनतम सालाना रिपोर्ट के मुताबिक 28 फीसदी कर से होटल महंगे हो जाएंगे तथा राजस्व और रोजगार पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा. कंपनी के कार्यकारी उपाध्यक्ष एस. एस. मुखर्जी ने कहा, "जीएसटी के असर से ग्राहकों पर कर का असर बढ़ गया है. कई राज्यों में यह 19-20 फीसदी था, अब इसे बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है. इस 8 फीसदी के अतिरिक्त खर्च का नकारात्मक असर पड़ेगा."

उन्होंने यह भी कहा कि नया अप्रत्यक्ष कर शासन अभी शुरू ही हुआ है और कंपनी के कारोबार पर इसका असर आने वाले समय में देखने को मिलेगा.

First published: 3 August 2017, 14:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी