Home » बिज़नेस » How much employment has corporate corporate in the era of Modi government, what do the figures say?
 

मोदी सरकार के दौर में कॉर्पोरेट सेक्टर ने कितना रोजगार दिया?

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 March 2018, 13:11 IST

साल 2014 के आम चुनावों में रोजगार देने के वादे ने नरेंद्र मोदी और उनकी भारतीय जनता पार्टी को एक ऐतिहासिक जीत दिलायी। अब अगले आम चुनावों के लिए महज एक साल साल बाकी है, ऐसे में विपक्ष मोदी सरकार को रोजगार के नाम पर लगातार घेर रहा है. देश में रोजगार पर छिड़ी चर्चा विश्वसनीय डेटा की कमी के कारण विकलांग से लगने लगी है. वर्तमान में कई नए नौकरी सर्वेक्षण चल रहे हैं.

प्रोवेस आईक्यू डाटाबेस में 27,000 से अधिक भारतीय कंपनियों (सूचीबद्ध और गैर सूचीबद्ध ) के रिकॉर्ड होते हैं, लेकिन पिछले कुछ सालों में कर्मचारियों की संख्या में बहुत कमी आयी है. कंपनियों के दो साल के आंकड़ों के आधार पर देखें तो नवीनतम वर्ष- वित्तीय वर्ष 2017 में 2,000 से अधिक कंपनियों ने सामूहिक रूप से लगभग 64 लाख कर्मचारियों को रोजगार दिया.

आंकड़े बताते हैं कि वित्तीय वर्ष 2006 और 2009 के बीच कॉर्पोरेट नौकरियों की औसत वार्षिक ग्रोथ 4 प्रतिशत की दर से बढ़ी. जबकि वित्त वर्ष 2010 में नौकरी की वृद्धि 2% और वित्तीय वर्ष 2011 में तेजी से 5% की बढ़ोतरी हुई. हालांकि यह भारत के आर्थिक स्थिति के हिसाब से बहुत कम था.

ये भी पढ़ें : भारत के टेलिकॉम सेक्टर में क्यों बढ़ रही है वकीलों की रिकॉर्ड तोड़ डिमांड

वित्तीय वर्ष 2013 में रोजगार सृजन की गति 1% से कम थी और वित्त वर्ष 2014 में यह 1.5% से थोड़ा ऊपर थी. वित्तीय वर्ष 2015 में वास्तव में नौकरियों में बड़ी कटौती देखी गई.

First published: 20 March 2018, 13:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी