Home » बिज़नेस » ICICI Bank gets fresh whistleblower complaint on 31 loan accounts
 

ICICI बैंक में फिर घपले की शिकायत, 31 लोन खातों में 6 हजार करोड़ की गड़बड़ी का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2018, 12:59 IST

भारत के सबसे बड़े निजी क्षेत्र के ऋणदाता आईसीआईसीआई बैंक ने कहा है कि एक व्हिसिलब्लोअर ने बैंक में 31 लोन खातों में गड़बड़ी की शिकायत की है. बैंक में यह ऐसी शिकायत का तीसरा उदाहरण है. पहली दो शिकायतों में बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर को बोर्ड के जांच का सामना करना पड़ रहा है और वह जांच खत्म होने तक छुट्टी पर है.

 

बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार बैंक ने कहा कि उसे मार्च 2018 में मिली शिकायत में कहा गया कि कुछ ऋण खातों में अनियमितताएं की गयी हैं जिसके कारण संपत्ति का गलत वर्गीकरण हुआ है. इसमें कहा गया है कि ये खाते 31 मार्च 2012 के अंत और 31 मार्च 2017 के बीच एनपीए के थे जबकि दो खाते 31 दिसंबर 2017 के दौरान के थे. इन 31 मामलों में 31 मार्च 2018 तक लोन 6082 करोड़ था जोकि कुल लोन का करीब 1.1 फीसदी था.

पहली शिकायत आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकॉन को लेकर शेयरधारक अरविंद गुप्ता ने की थी. जिसमें आरोप लगाया गया था कि चंदा कोचर और एयर वेणुगोपाल धूत के पारिवारिक संबंधों की वजह से वीडियोकॉन को लोन दिया गया है. दूसरी whistleblower शिकायत के बाद बैंक बोर्ड को कोचर के आरोपों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश बी एन श्रीकृष्ण को नियुक्त किया.

ये भी पढ़ें ; क्यों तेल पर हो रही OPEC देशों की बैठक अचानक छोड़ कर चला गया ईरान ?

First published: 23 June 2018, 12:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी