Home » बिज़नेस » If PNB does not pay back 1000 crore by March 31, Union Bank will treat PNB as defaulter
 

PNB पर क्यों मंडरा रहा है डिफॉल्टर घोषित होने का खतरा, 31 मार्च तक का है समय

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 March 2018, 13:51 IST

देश के सबसे बड़े बैंक घोटाले 'नीरव मोदी कांड' के बाद पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की मुसीबतें लगातार बढ़ती ही जा रही है. ख़बरों की माने तो पीएनबी अगर 31 मार्च तक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (UBI) को 1000 करोड़ रुपए की बकाया राशी का भुगतान नहीं करती है.

तो यूबीआई पीएनबी को डिफॉल्टर घोषित कर देगी. बकाया राशी का यह मामला पंजाब नेशनल बैंक द्वारा जारी एक हजार करोड़ के लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग(LOU) का है, जिसका भुगतान यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया ने किया था. 

ये भी पढ़ें- पापा मुकेश की राह पर आकाश अंबानी, यूं बनाया अपने प्यार को हमसफ़र

 पीएनबी को 31 मार्च तक यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की बकाया राशि का भुगतान करना होगा. यूबीआई का कहना है कि अगर इस तिथि तक भुगतान नहीं हुआ तो वह कर्ज को नॉन परफार्मिंग एसेट्स(NPA) भी घोषित किया जा सकता है.

भारतीय बैकिंग सिस्टम के इतिहास में ऐसी घटना पहली बार होगी की एक बैंक दूसरे सरकारी बैंक को डिफॉल्टर घोषित करे. ऐसी अभूतपूर्व वित्तीय घटना को टालने के लिए वित्त मंत्रालय सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को हस्तक्षेप करना पड़ सकता है.

First published: 26 March 2018, 13:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी