Home » बिज़नेस » If there is an internet facility in the airplane then it will have to pay the charge
 

हवाई जहाज में इंटरनेट की सुविधा मिंली तो इतना देना होगा चार्ज

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 17:43 IST

यात्री जल्द ही हवाई यात्रा करते वक्त सोशल मीडिया पर स्टेफी पोस्ट कर सकते हैं  लेकिन लेकिन फ्लाइट में डेटा कनेक्टिविटी का लाभ उठाने के लिए कम से कम 20-30% किराये का भुगतान करना पड़ सकता है. एयरलाइंस फ्लाइट में वाइस और डेटा कनेक्टिविटी पर ट्राई कि अनुमति के बाद इस सुविधा के विकल्प पर विचार कर रही है.

इस कदम से घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर व्यापारिक वर्ग के यात्रियों के लिए सेवाओं में एयरलाइंस किराया बढाया  जा सकता है. हालांकि यह कम किराये वाले एयरलाइन्स में यह विकल्प उपलब्ध नही होगा.

अधिकारियों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार इन-फ्लाइट नेट कनेक्टिविटी का शुल्क एक घंटे में तीस मिनट के लिए 500 रुपये से 1,000 रुपये तक का होगा. यह इन्टरनेट सेवा सेटेलाइट के जरिये दी जा सकती है. 

गौरतलब है कि जल्द हवाई यात्रा के दौरान विमान में कंप्यूटर और मोबाइल का उपयोग कर पाएंगे. दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने एयरलाइनों को भारतीय हवाई इलाके में विमान में संचार या इन-फ्लाइट कनेक्टिविटी (आईएफसी) की अनुमति देने की सिफारिश की है. गौरतलब है कि अभी तक हवाई यात्रा करने के दौरान इन्टरनेट की सुविधा नहीं मिलती थी और आपको अपना फोन फ्लाइट मोड पर रखना पड़ता था.

हालांकि कई अन्य देशों जैसे तुर्की, चीन और आयरलैंड में हवाई यात्रा के दौरान इन्टरनेट की सुविधा मौजूद रहती है. ट्राई ने अपनी सिफारिशों में कहा है कि अब एयरलाइनें कुछ शर्तों के साथ अपने यात्रियों को इंटरनेट व वाई-फाई सेवाएं प्रदान कर सकेंगी.

First published: 23 January 2018, 17:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी