Home » बिज़नेस » If you earn below Rs 15k a month, you must link Aadhaar to your PF account
 

महीने में 15 हजार से कम कमाते हैं तो आपको पीएफ खाता जोड़ना होगा आधार से

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 9:16 IST

महीने में 15,000 रुपये से कम मासिक वेतन पाने वाले सभी औपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों को अब अपने भविष्य निधि (पीएफ) खातों को आधार नंबर से जोड़ना होगा. ईपीएफओ तीन योजनाएं संचालित करता है - कर्मचारी भविष्य निधि योजना 1952, कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) 1995 और कर्मचारी जमा लिंक्ड बीमा योजना, 1976 जिसके लिए दोनों कर्मचारी और नियोक्ता योगदान करते हैं.

बुधवार को आधार की संवैधानिक वैधता को कायम रखते हुए अदालत ने भारत के वित्त पोषित सरकारी कल्याण योजनाओं के उपयोग को प्रतिबंधित कर दिया. एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि ईपीएस के लाभ लेने वाले ग्राहकों को अपने पीएफ खातों को आधार संख्या से जोड़ना होगा.

 

सरकार ईपीएस की ओर 15,000 रुपये तक के कर्मचारी के वेतन के 1.16 प्रतिशत के बराबर एक सब्सिडी प्रदान करती है. वर्तमान में 40 मिलियन से अधिक लोग ईपीएस लाभ का लाभ उठाते हैं. ईपीएफओ में 60 मिलियन से अधिक सक्रिय सदस्य हैं. कम से कम 20 श्रमिकों वाली सभी कंपनियां ईपीएफओ द्वारा कवर की जाती हैं.

हालांकि यह उन कर्मचारियों के लिए अनिवार्य नहीं हो सकता है जो ईपीएफओ के मौजूदा ग्राहक हैं और आधार को जोड़ने के लिए ईपीएस (15,000 रुपये से अधिक मासिक आय के साथ) के अंतर्गत शामिल नहीं हैं.

अगस्त के बाद कंपनियों में शामिल होने वाले कर्मचारी और प्रधानमंत्री रोज़गार प्रोत्सहन योजना (पीएमआरपीवाई) के तहत सरकारी लाभों का लाभ उठाने के लिए आधार संख्याओं के साथ अपने पीएफ खातों को भी जोड़ना होगा.

पीएमपीआरवाई के तहत सरकार ईपीएफओ द्वारा संचालित योजनाओं के लिए योगदान के नियोक्ता के हिस्से का 8.33 प्रतिशत भुगतान करती है. पीएमपीआरई अधिसूचित होने पर 9 अगस्त से नई नौकरी पाने के बाद इस तरह के कर्मचारियों के लिए रोजगार के पहले तीन वर्षों के लिए इस तरह के कर्मचारियों के लिए योजना जारी रहेगी.

ये भी पढ़ें : भारत में किसानों पर 180 करोड़ खर्च करने जा रही है ये अमेरिकी कंपनी

First published: 28 September 2018, 9:12 IST
 
अगली कहानी