Home » बिज़नेस » IMF predicts India will grow at 7.3% in 2018-’19
 

IMF का अनुमान- इन कदमों से चीन से भी आगे निकल जाएगी भारत की ग्रोथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2018, 10:58 IST

 

सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा कि 2018-19 के वित्तीय वर्ष में भारत की ग्रोथ 7.3% रहेगी. जबकि 2018-19 की पहले तिमाही में देश की सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि दर 8.2% तक पहुंच गई थी. वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक में 2019-20 के लिए 7.5% से 7.4% तक भारत के विकास पूर्वानुमान को भी घटा दिया. आईएमएफ के आंकड़ों के मुताबिक भारत सबसे तेज़ी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होग. 2018-19 में चीन की जीडीपी वृद्धि 6.6% और 2019-20 के लिए इसे 6.2% तक घटा दिया गया है.

अंतर्राष्ट्रीय संगठन ने कहा कि भारत की वृद्धि अंतरिम झटके से बढ़ी है जैसे कि करेंसी एक्सचेंज और जीएसटी की शुरूआत इसमें शामिल हैं. आईएमएफ ने देश में श्रम और भूमि बाजारों में सुधार के साथ-साथ व्यापार वातावरण में सुधार करने की बात कही है. आईएमएफ ने कहा कि अमेरिका में मौद्रिक नीति सामान्यीकरण और मजबूत डॉलर ने ब्राजील, भारत और दक्षिण अफ्रीका जैसे उभरती अर्थव्यवस्थाओं में विनिमय दरों पर दबाव डाला है.

 

इससे पहले अगस्त में आईएमएफ ने कहा कि जीएसटी के कार्यान्वयन के साथ समस्याओं के कारण कर राजस्व में कमी जारी रह सकती है. वैश्विक वित्तीय स्थितियों में कड़े होने से भारत के लिए बाहरी उधार लागत बढ़ सकती है और वैश्विक व्यापार संघर्ष निर्यात को नुकसान पहुंचा सकता है. हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि व्यापार के लिए भारत की अपेक्षाकृत कम खुलेपन का मतलब है कि वैश्विक व्यापार युद्ध के किसी भी स्पिलोवर प्रभाव को कम किया जा सकता है.

रिपोर्ट में केंद्र के बजट से सहमति दिखाई गई है जिसमें कहा गया था कि 2018-19 के लिए राजकोषीय घाटे में कमी आएगी. अधिकारियों की प्रस्तुति जीडीपी के लगभग 0.2% की कमी दर्शाती है, जबकि आईएमएफ जीडीपी के 0.4% की कमी को प्रोजेक्ट करता है."

ये भी पढ़ें : IIT दिल्ली का ये छात्र संभालेगा अमेरिकी कंपनी बोईंग में F-15 फाइटर एयरक्राफ्ट की कमान

First published: 9 October 2018, 10:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी