Home » बिज़नेस » Impact fuel prices : IndiGo hikes fares, others pvt airlines may follow suit
 

तेल का खेल : Fuel की बढ़ती कीमत से हवाई यात्रा महंगी, IndiGo ने बढ़ाया किराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 May 2018, 12:05 IST

तेल कंपनियों द्वारा लगातार 16 दिनों तक तेल की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद 17वें दिन कीमत में मामूली कटौती कर दी गई, लेकिन देश की सबसे बड़ी घरेलू एयरलाइन इंडिगो ने घरेलू हवाई मार्गों पर हवाई किराए में 200 रुपये से 400 रुपये की बढ़ोतरी की है. कंपनी का कहना है उसने यह किराया तेल की बढ़ती कीमतों के कारण बढ़ाया है.

इंडिगो ने कहा कि ईंधन की कीमतों में हालिया बढ़ोतरी और डॉलर के मुकाबले रूपये में गिरावट के कारण उसने लेवी चार्ज करने का फैसला लिया है जो कि आवश्यक था क्योंकि इससे उनके मुनाफे पर असर पड़ रहा था. इंडिगो के इस फैसले के बाद अन्य निजी एयरलाइंसों द्वारा भी किराए में बढ़ोतरी करने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि अभी तक किसी ने इसकी घोषणा नहीं की है.

विमान में ईंधन खर्च इंडिगो के कुल खर्चे में सबसे अधिक है, जो एयरलाइन की संचालन लागत का लगभग 40 प्रतिशत है. भारतीय रुपये में गिरावट आने से भी कंपनियों पर अतिरिक्त लागत का बोझ बढ़ा है. कंपनी ने 1000 किलोमीटर से कम दूरी के मार्गों पर 200 रुपये और 1000 किलोमीटर की दूरी से अधिक मार्गों पर 400 रुपये का किराया बढ़ाया है.

पिछले हफ्ते जेट एयरवेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनय दुबे ने कहा था कि एयरलाइन आने वाले महीनों में ईंधन की कीमतों और हवाईअड्डे में संतुलन की उम्मीद कर रही है. दुबे ने संकेत दिया था कि एयरलाइन अपने ईंधन के बड़े हिस्से के रूप में उच्च ईंधन लागत पारित करने में सक्षम होगी, जो कॉर्पोरेट यात्रियों को शामिल करती है.

जेट एयरवेज को चौथी तिमाही में 10.4 अरब रुपये का नुकसान हुआ था. एक हफ्ते पहले ब्रेंट क्रूड ने नवंबर 2014 से 80 डॉलर प्रति बैरल को छुआ है. भारत में उत्पाद शुल्क दुनिया में सबसे ज्यादा है.

ये भी पढ़ें : तेल का खेल- 16 दिन बढ़ने के बाद 17वें दिन कम हुए पेट्रोल-डीजल के दाम, मिली इतनी राहत

First published: 30 May 2018, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी