Home » बिज़नेस » India is one of the highest taxing nations in the world: Donald Trump
 

ट्रंप को फिर आया भारत पर गुस्सा, कहा- मुझे पीएम मोदी का फोन आया... ये बात ठीक नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 April 2019, 13:57 IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को दुनिया का सबसे ज्यादा टैक्स लगाने वाला देश बताया है. ट्रम्प ने दिग्गज कंपनी फिर से हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल सहित अमेरिकी उत्पादों पर 100% टैरिफ लगाने का भारत पर आरोप लगाया. ट्रंप ने यह भी कहा कि इतना अधिक टैरिफ उचित नहीं है, अमेरिकी राष्ट्रपति राष्ट्रीय रिपब्लिकन कांग्रेस कमेटी के वार्षिक स्प्रिंग डिनर के दौरान बोल रहे थे.

इस साल की शुरुआत में व्हाइट हाउस में ट्रम्प ने कहा था कि वह हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिल पर आयात शुल्क को 100% से घटाकर 50% करने के भारत के फैसले से वह संतुष्ट हैं. ट्रंप लगातार भारत पर आरोप लगते रहे हैं कि वह अमेरिकी उत्पादों पर ज्यादा टैक्स लगा रहा है. ट्रंप ने भारत को 'टैरिफ किंग' की उपाधि भी दी थी.

ट्रम्प ने कहा, "मुझे भारत के प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी का फोन आया. वे दुनिया के सबसे अधिक टैक्स लगाने वाले देशों में से एक हैं. उन्होंने हमसे 100% टैक्स लिया. वे माल पर 100% शुल्क लेते हैं. जबकि हम उनसे कुछ नहीं लेते हैं. हम हार्ले डेविडसन को भारत भेजते हैं और वे हमसे शुल्क लेते हैं''. ट्रम्प ने कहा 100% ठीक नहीं है''.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया कि कैसे उनकी व्यापार नीतियां सफलतापूर्वक अन्य देशों के साथ व्यापार मुद्दे पर संतुलित रही हैं. चीन के साथ व्यापार वार्ता बहुत अच्छी तरह से चल रही है. पिछले साल मार्च में चीन से आयातित स्टील और एल्यूमीनियम वस्तुओं पर भारी शुल्क लगाने के बाद अमेरिका और चीन में व्यापार युद्ध में शुरू हो गया था. ट्रम्प ने 250 बिलियन डॉलर के चीनी सामान पर 25% तक टैरिफ बढ़ाया था. जवाब में चीन ने अमेरिकी माल के 110 बिलियन डॉलर के टैरिफ लगाए.

कैसे एक मोटरसाइकिल ने ट्रम्प के सामने PM मोदी को डाल दिया धर्मसंकट में ?

इस साल फ़रवरी में भारत ने पूरी तरह से आयातित मोटरसाइकिलों (800 सीसी से ऊपर) पर आयात शुल्क घटाकर 75 प्रतिशत से 50 प्रतिशत कर दिया था. यह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लगातार प्रयास करने के बाद किया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब भारत ने हार्ली डेविडसन इम्पोर्ट ड्यूटी 50 प्रतिशत किया था तब अमेरिकी राष्ट्रपति ने नरेंद्र मोदी की खासी आलोचना की थी.

उन्होंने कहा ‘‘अब प्रधानमंत्री ने, जिन्हें मैं शानदार व्यक्ति मानता हूं, मुझे फोन कर कहा कि हम इसे कम कर 50 प्रतिशत कर रहे हैं. मैंने कहा, यह तो ठीक है लेकिन अबतक हमें कुछ नहीं मिला है. उन्होंने 50 प्रतिशत कर दिया और वे सोचते हैं उन्होंने अपना काम कर दिया, मानो वे हम पर एहसान कर रहे हैं. यह एहसान नहीं है.’’

First published: 4 April 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी