Home » बिज़नेस » india largest bank state bank of india increase the limit of transaction money of net banking.
 

SBI ने ब्याज़ दरों में बदलाव के बाद ग्राहकों को दी बड़ी राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2017, 14:17 IST

देश के सबसे बड़े बैंक ने स्टेट बैक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है. अब आप नेटबैंकिंग से ज्यादा रुपये ट्रांसफर कर सकते हैं. एसबीआई ने नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए सर्विस लिमिट में 2.5 गुना की बढ़ोतरी की है. 

SBI के अनुसार, अब क्विक ट्रांसफर सर्विस से बेनेफिशरी को एड किए बिना भी एक दिन में 25,000 रुपये तक ट्रांसफर किए जा सकते है. इससे पहले यह लिमिट 10,000 रुपये प्रतिदिन थी. 

गौरतलब है कि नेट बैकिंग के जरिए NEFT, RTGS, IMPS, जैसे विकल्पों के जरिए पैसा भेजा जाता है, लेकिन इन सभी विकल्पों के लिए पहले बेनेफिशरी एड करना पड़ता है, जिसमें आम तौर पर 2-3 घंटे से लेकर एक दिन तक का समय लग जाता था.

एसबीआई ने अब क्विक ट्रांसफर सर्विस के तहत प्रति ट्रांजेक्शन लिमिट को भी दोगुना कर दिया है. अब आप क्विक ट्रांसफर से 10,000 रुपये तक ट्रांसफर कर सकते हैं. इससे पहले यह लिमिट 5,000 रुपये थी. यानी अब क्विक ट्रांसफर सर्विस के जरिए आप अपने अकाउंट के साथ बिना कोई बेनेफिशरी एड किए किसी भी दूसरे खाते में पैसा भेज सकते हैं. 

इस सेवा के तहत स्टेट बैंक का ग्राहक किसी दूसरे स्टेट बैंक के ही खाते में पैसे भेजता है, तो किसी तरह का चार्ज नहीं है, लेकिन खाता अगर किसी दूसरे बैंक का है तो उस पर 2 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन चार्ज लगता है.

गौरतलब हे कि 31 जुलाई को देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने सोमवार को ग्राहकों को तगड़ा झटका दिया था. एसबीआई ने सेविंग अकाउंट्स पर मिलने वाले ब्याज के रेट में 0.50 फीसदी कम कर दिए थे. 

एसबीआई ने जानकारी दी थी कि, बचत खाते में 1 करोड़ रुपये तक की जमा रकम पर एसबीआई की ओर से 3.5 फीसद की दर से ब्याज दिया जाएगा. ये ब्याज दर पहले 4 प्रतिशत थी,  हालांकि अगर बचत खाते में बैलेंस 1 करोड़ रुपये से ऊपर होगा, तो आपको उस पर 4 फीसद का सालाना ब्याज ही मिलेगा." 

First published: 3 August 2017, 14:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी