Home » बिज़नेस » India preparing to increase custom duty on these items imported from China
 

आर्थिक मोर्चे पर चीन को बड़ा झटका, इम्पोर्ट पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने की तैयारी में भारत

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 June 2020, 9:04 IST

LAC पर तनाव के बीच भारत सरकार चीन से आयात होने वाले कई उत्पादों पर सीमा शुल्क (Custom Duty) लगाने पर विचार कर रही है. हालांकि अभी तक इसे अंतिम रूप नहीं दिया गया है. भारत के कुल आयात का लगभग 14 प्रतिशत चीन से आता है. अप्रैल 2019 से फरवरी 2020 के बीच भारत ने 62 डॉलर मूल्य के सामान का आयात किया है. जबकि पड़ोसी देश में निर्यात 15.5 बिलियन अमरीकी डॉलर था. चीन से आयात किए जाने वाले मुख्य घड़ियां, संगीत वाद्ययंत्र, खिलौने, खेल के सामान, फर्नीचर, गद्दे, प्लास्टिक, बिजली के उपकरण, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, रसायन, लोहा और इस्पात की वस्तुएं, उर्वरक, शामिल हैं.

रॉयटर्स के अनुसार भारत ने चीन और अन्य जगहों से लगभग 300 उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाने की योजना बनाई है. रिपोर्ट के अप्रैल से योजना की समीक्षा की जा रही है. कहा गया है कि यह स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल ही में घोषित आत्मनिर्भरता अभियान के तहत है. नए ड्यूटी स्ट्रक्चर को अगले तीन महीनों में धीरे-धीरे लागू किए जाने की संभावना है.

भारत का चीन को साफ संदेश, कहा LAC पर अपनी गतिविधियों अपने क्षेत्र में सीमित रखे

रिपोर्ट के अनुसार एक अधिकारी ने कहा "हम किसी भी देश को निशाना नहीं बना रहे हैं, यह चीन जैसे देशों के साथ व्यापार घाटे को कम करने के तरीकों में से एक है." मोदी ने 2014 में सत्ता में आने के बाद से मोदी सरकार ने स्थानीय विनिर्माण को बढ़ावा देने के दावे किये हैं. सरकार हाल के वर्षों 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम को बढ़ावा दिया है और पिछले महीने एक आत्मनिर्भर भारत अभियान की घोषणा की है. भारत ने पहले ही फरवरी में इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं, खिलौनों और फर्नीचर जैसे सामानों के आयात पर कर बढ़ा दिया.


इंडियन रेलवे ने चीनी कंपनी से तोड़ा लगभग 500 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट, बताई ये बड़ी वजह

First published: 19 June 2020, 9:04 IST
 
अगली कहानी