Home » बिज़नेस » India to manufacture Russian Kalashnikov rifles, sets up joint venture near Amethi
 

अब भारतीय सेना को मिलेगी ये रूसी राइफल, अमेठी के पास लगेगा कारखाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2019, 14:08 IST

भारत जल्द रूस के साथ मिलकर कलाश्निकोव राइफल्स की नवीनतम श्रृंखला बनाने के लिए रूसी फर्म के साथ एक संयुक्त उद्यम समझौते पर हस्ताक्षर कर सकता है. यह संयंत्र पूर्वी उत्तर प्रदेश में अमेठी के पास कोरवा में स्थित इंडो-रूस राइफल्स प्राइवेट लिमिटेड के तहत काम करेगा. यह 7,50,000 AK-203 राइफलों का उत्पादन करेगा, जो कि प्रसिद्ध AK-47 राइफल्स का सबसे नवीनतम संस्करण है.

यह कदम भारत-रूस रक्षा संबंधों और तकनीकी सहयोग को मजबूत करने के उद्देश्य से है उठाया गया है. उत्तर प्रदेश में योजनाबद्ध रक्षा गलियारे के साथ, जो उत्तर भारतीय राज्य के छह शहरों से जुड़ेगी, देश की रक्षा क्षमताओं में मदद करेगी.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ''रक्षा उत्पादन गलियारा और कलाशनिकोव राइफल AK-203 अगली पीढ़ी की राइफल भारत को मदद करेगी, उन्होंने कहा कि AK-203 हस्तांतरण तकनीक पूरी तरह से स्वदेशी होगी और रोजगार सृजन में मदद करेगी. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार AK-203s भारतीय सशस्त्र बलों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले इंसास राइफलों की जगह लेगा.

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि कारखाने दोनों देशों के बीच लंबे समय तक सैन्य और तकनीकी सहयोग की ओर इशारा करते हुए हमारे दोनों देशों के बीच दोस्ती और रचनात्मक सहयोग का प्रतीक बन जाएंगे. दोनों ने 170 से अधिक सैन्य और औद्योगिक सुविधाएं स्थापित की हैं, दो देशों ने रूस की सहायता से अतीत में स्थापित किया है.

ये हैं वो 10 देश जो बेच रहे हैं दुनिया को तबाही का सामान

First published: 4 March 2019, 14:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी