Home » बिज़नेस » India tops the list of countries for mobile data consumption, claims NITI Aayog CEO Amitabh Kant
 

'मोबाइल डाटा खपत में भारत बना दुनिया का नंबर 1 देश'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 December 2017, 19:32 IST

बीते साल टेलीकॉम सेक्टर में रिलायंस जियो ने आकर एक ओर जहां प्राइसवार छेड़कर बाकी कंपनियों के मुनाफे को कम कर दिया, तो दूसरी तरफ इसने देशभर के मोबाइल यूजर्स को जमकर मोबाइल डाटा इस्तेमाल का मौका दिया. यही वजह है कि अब मोबाइल डाटा खपत के मामले में भारत दुनिया का नंबर एक देश बन गया है.

इस बात की पुष्टि नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने शुक्रवार को की. उन्होंने एक ट्वीट में बताया कि भारत में प्रतिमाह 150 करोड़ गीगाबाइट मोबाइल डाटा की खपत की जाती है. मोबाइल डाटा खपत के मामले में अब भारत दुनिया का नंबर एक मुल्क बन चुका है.

अमिताभ कांत ने अपने ट्वीट में लिखा, "अविश्वसनीय! प्रतिमाह 150 करोड़ गीगाबाइट्स मोबाइल डाटा खपत के साथ, भारत अब दुनिया में नंबर एक मोबाइल डाटा खपत वाला देश बन गया है. इसकी मोबाइल डाटा की खपत अमेरिका और चीन की संयुक्त डाटा खपत से भी ज्यादा है."

हालांकि अमिताभ ने इन आंकड़ों के स्रोत का खुलासा नहीं किया. वहीं, एक हालिया मोबिलिटी रिपोर्ट में अनुमान जताया गया था कि भारत के हर स्मार्टफोन में मासिक डाटा खत 2017 के 3.9GB से पांच गुना बढ़कर 2023 में 18GB हो जाएगी.

गौरतलब है कि भारत ने पिछले करीब एक साल में मोबाइल नेटवर्क, डाटा खपत और स्मार्टफोन के प्रयोग में अप्रत्याशित बढ़त हासिल की है. रिलायंस जियो के बाजार में आने के बाद हर मोबाइल कंपनी जमकर 4G डाटा देने में लगी है और सभी टेलीकॉम ऑपरेटर्स नियमित रूप से सस्ते प्लान लेकर सामने आ रहे हैं.

अब टेलीकॉम बाजार में प्रतिस्पर्धा सस्ता डाटा या प्लान देकर यूजर्स को आकर्षित करने की नहीं बल्कि अपने मौजूदा ग्राहकों को बरकरार रखने की है.

First published: 23 December 2017, 19:13 IST
 
अगली कहानी