Home » बिज़नेस » Indian Farmers slaps Pakistan,Tomato in Pak 180 Rupees per kg, Trucks load of dry fruit stuck at Pak border
 

भारतीय किसानों ने मारा थप्पड़ जोरदार, पाकिस्तान में क्यों मच गया हाहाकार!

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 18:12 IST

पुलवामा हमले के बाद भारत से पाकिस्तान की आर्थिक नाकेबंदी शुरू कर दी है जिसका असर अब दिखने लगा है. आम पाकिस्तानियों के साथ-साथ व्यापारियों में भी हाहाकार मचा हुआ है. सड़क के रास्ते पाकिस्तान भेजे जाने वाले कई जरूरी समानों की सप्लाई में भारी गिरावट आई है. भारतीय व्यापारियों और किसानों ने माल भेजना बंद कर दिया है. पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा छीनने के बाद भारत सरकार ने बेसिक कस्टम ड्यूटी को 200 प्रतिशत तक बढ़ा दिया था. अगर सीधे तौर कहें तो इसका मतलब है व्यापर को नामुकिन बनाना.

भारतीय किसानों ने मारा थप्पड़ जोरदार


भारतीय किसानों ने अपने उत्पाद पाकिस्तान भेजने से इनकार कर दिया. मध्य प्रदेश के किसानों ने पाकिस्तान को टमाटर भेजने से साफ इनकार किया है उनका कहना है कि हमारे टमाटर भले सड़ जाए लेकिन हम उसे पाकिस्तान नहीं भेजेंगे. इसका असर यह है कि पाकिस्तान में टमाटर, आलू के साथ-साथ अन्य शब्जियों के दाम आसमान छूने लगे हैं. पाकिस्तान को सबसे ज्यादा फल-सब्जियां सप्लाई करने वाली दिल्ली की आजादपुर मंडी में व्यापारियों ने वहां माल नहीं भेजने का फैसला किया है.

पाकिस्तान की आम जनता ताजे सब्जियों और कई तरह के खाद्य पदार्थ के लिए बड़ी कीमत चुका रहे हैं. भारतीय किसानों का देश के लिए जज्बा वाकई कबीले तारीफ है. हमारे किसानों का ये फैसला पाकिस्तान के लिए किसी जोरदार थप्पड़ से कम नहीं है क्योंकि पहले से ही पाई-पाई के लिए मोहताज पाकिस्तानियों की थाली से कई तरह की सब्जियां दूर हो गई है.

पाकिस्तान में क्यों मच गया हाहाकार

कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान में महंगाई का दौर शुरू हो गया है और रोजमर्रा के वस्तुओं की कीमतें अप्रत्याशित तौर पर बढ़ रही है. लाहौर में टमाटर 180 रूपये प्रति किलो बिक रहा है. पाकिस्तान की सब्जी मंडी में आलू के दाम में भी इजाफा हुआ है. कुछ दिनों पहले तक यह 15-20 रूपये प्रति किलो था. आलू पहले 10-12 रूपये प्रति किलो बिक रहा था जबकि अब आलू 30-35 रुपए किलो बिक रहा है.

पाकिस्तान को सबसे ज्यादा फल-सब्जियां सप्लाई करने वाली दिल्ली की आजादपुर मंडी में व्यापारियों ने वहां माल नहीं भेजने का फैसला किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, अटारी-बाघा मार्ग से यहां से रोजाना 75 से 100 ट्रक टमाटर जा रहा था, लेकिन अब ये पूरी तरह बंद है.खीरे और तोरी 80 रुपए प्रति किलो में बिक रहे हैं वहीं इस वक्त भिंडी के भाव भी आसमान छू रहे हैं.

First published: 23 February 2019, 18:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी