Home » बिज़नेस » Indian Railway increases basic travel fare in all categories from 1st January 2020 Know here full fare details
 

नए साल में ट्रेन से सफर करना हुआ महंगा, यहां जानिए किस श्रेणी में कितना बढ़ा किराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 January 2020, 12:11 IST

Indian Railway Increases Travel Fare : नए साल पर रसोई गैस की कीमत में इजाफा हुआ है. इसके अलावा भारतीय रेलवे से सफर करना भी महंगा हो गया है. नए साल में आम आदमी की जेब पर रेलवे ने भी बोझ बढ़ा दिया है. रेलवे आज यानी एक जनवरी से सभी श्रेणी के किराए में इजाफा किया है. बुधवार से रेलवे ने एक पैसे प्रति किलोमीटर से चार पैसे प्रति किलोमीटर तक किराया बढ़ाया है. हालांकि रेलवे ने उपनगरीय रेलवे के किराए में बढ़ोतरी नहीं की है.

बता दें कि रेलवे ने साधारण श्रेणी (द्वितीय श्रेणी) के किराए में एक पैसे प्रति किलोमीटर का इजाफा किया है. वहीं गैर वातानुकूलित श्रेणी (Non AC) और गैर उपनगरीय श्रेणी में भी एक पैसे प्रति किलोमीटर का इजाफा किया गया है. इसके अलावा मेल/एक्सप्रेस गैर वातानुकूलित ट्रेनों के किराए में दो पैसे प्रति किलोमीटर की वृद्धि की गई है. वहीं वातानुकूलित श्रेणी के किराए में चार पैसे प्रति किलोमीटर का इजाफा किया गया है. इसके अलावा ये बढ़ा हुआ नया किराया शताब्दी और राजधानी ट्रेनों के किराए में भी लागू होगा.

रेलवे के नए किराए के तहत अगर आप 1000 किलोमीटर का सफर कर रहे हैं तो साधारण श्रेणी मेम आपको 10 रुपये ज्यादा किराया देना होगा. वहीं मेल/एक्सप्रेस की गैर वातानुकूलित (Non AC) श्रेणी में 20 रुपये अधिक किराया देना होगा. इसके अलावा अगर आप इस ट्रेन की वातानुकूलित श्रेणी (AC Class) में सफर करते हैं तो आपको 40 रुपये अतिरिक्त किराया चुकाना होगा.

जिन यात्रियों ने पहले से टिकट को बुक करा रखा है, उनसे सफर के दौरान बढ़ा हुआ किराया वसूला जाएगा. यह किराया ट्रेन में चल रहे टीटीई वसूलेंगे.  रेलवे सूत्रों के मुताबिक संसदीय समितियों की सिफारिशों और परिचालन अनुपात पर बढ़ते दबाव के चलते रेलवे का किराया बढ़ाने की कदम उठाया गया है. बता दें कि प्रधानमंत्री कार्यालय से इसके लिए हरी झंडी भी मिल गई है. ट्रेनों का किराया बढ़ाने से रेलवे के हर साल चार हजार करोड़ रुपये से लेकर पांच हजार करोड़ रुपये तक का फायदा होगा.

CAA: 'भारतीय मुसलमानों के घुसने के डर से बांग्लादेश ने सीमा पर बंद की मोबाइल सेवा- रिपोर्ट

5G: अमेरिकी दबाव के बावजूद चीनी कंपनी Huawei को मोदी सरकार देगी ट्रायल स्पेक्ट्रम

फेसबुक पर फिर लगा गलत तरीके से डेटा शेयर करने का आरोप, 1.6 मिलियन डॉलर का जुर्माना

First published: 1 January 2020, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी