Home » बिज़नेस » Indian Railway will provide seats in running train of waiting and RAC passengers
 

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी, वेटिंग और RAC यात्रियों को सफर के दौरान आसानी से मिलेगी सीट

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2018, 10:10 IST

अगर आप ट्रेन से यात्रा करते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. क्योंकि रेलवे जल्द ही वेटिंग और आरएसी यात्रियों को यात्रा के दौरान सीट देने के लिए बड़ा कदम उठाया है. इससे वेटिंग और आएसी यात्रियों को होने वाली परेशानी से निजात मिलेगी. यहीं नहीं सभी वेटिंग और आरएसी यात्रियों को चलती ट्रेन में ही आसानी से सीट मिल जाएगी.

दरअसल, रेलवे ने यात्रा के दौरान खाली होने वाली सीटों की हेराफेरी रोकने के लिए अहम कदम उठाया है. इसके लिए ट्रेन के टीटीई को हैंड हेल्ड मशीन से लैश करने का फैसला किया है. इससे क्रम वाले आरएसी और वेटिंग लिस्‍ट वाले यात्रियो को ही सीट मिलेगी ओर टीटीई की मनमानी पर रोक लगेगी. हालांकि अभी ये सुविधा सिर्फ पंजाब में फिरोजपुर मंडल में ही लागू की गई है.

बता दें कि इस मशीन से लैश होने वाली फिरोजपुर मंडल रेलवे की गुरुवार को पहली ट्रेन अमृतसर-नई दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस बन गई है. फिरोजपुर-नई दिल्ली के मध्य चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस को भी जल्द ही इस व्‍यवस्‍था को लागू करने का दावा किया जा रहा हैबता दें कि टीईटी को नोटपैड आकार की इंटरनेट से कंनेक्ट रहने वाली हैंड हेल्ड मशीन दी जाएंगी. जिसमें संबंधित ट्रेन में यात्रियों की बुक हुई सीटों का चार्ट डिस्प्ले होगा.

इससे टीटीई यात्रियों के टिकट का मिलान करेंगे. ऐसे में जो यात्री किसी वजह से ट्रेन में सफर नहीं करते हैं और उसकी सीट खाली रह जाती है तो उसके लिए यह व्‍यवस्‍था लागू होगी. इसके तहत टीटीई द्वारा उक्त खाली सीट को फिल किए जाने का मैसेज भेजने के लिए ऑप्शन में क्लिक करेगा.

यह मैसेज सीधे रेलवे के पीआरएस सर्वर में पहुंचेगा और इसके बाद उक्त खाली सीट अगले स्टेशन के आरएसी और वेटिंग सूची वाले यात्री को स्वत: ही ट्रांसफर कर दी जाती है. हैंड हेल्ड मशीन से टिकट चेक होने से सीटों के खाली रहने पर किसी भी प्रकार के हेराफेरी की संभावना खत्म होगी और बिना किसी परेशानी के खाली सीट स्वत: ही आरएसी व वेटिंग लिस्ट वाले को मिल जाएगी.

ये भी पढ़ें-

 

First published: 21 December 2018, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी