Home » बिज़नेस » Indians are not giving information about Swiss bank accounts, know who will get money
 

मोदी सरकार का खौफ ! स्विस बैंक के खातों की जानकारी नहीं दे रहे भारतीय, जानिए किसे मिलेगा पैसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2019, 12:10 IST

साल 2015 में स्विस बैंक ने मोदी सरकार के कहने के बाद निष्क्रिय खातों के ब्योरे को सार्वजनिक करना शुरू किया था. स्विस बैंक ने इसके तहत खाता दावेदारों को कुछ प्रमाण उपलब्ध कराने को कहा था. लेकिन लगता है कि खाता दावेदार मोदी सरकार से डर गए हैं, और उन्होंने अपने पैसे को छोड़ देना मुनासिब समझा है.

स्विस बैंक द्वारा ब्योरे मांगे जाने के 4 साल बाद भी ऐसे दर्जन भर से ज्यादा खाते हैं जिनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है. इन खातों में अरबों रुपये हैं. ऐसे में यह माना जा रहा है कि स्विट्जरलैंड के बैंक इन खातों का पैसा भारत सरकार को ट्रांसफर कर सकती है.

स्विस अथॉरिटी के आंकड़ों के अनुसार, 4 साल के दौरान एक भी खाते पर किसी भारतीय वारिस ने सफलतापूर्वक दावा नहीं किया है. कुछ खातों के लिए दावा करने की अवधि अगले महीने समाप्त हो जाएगी. जबकि कुछ खातों के दावा करने की अवधि 2020 है.

निष्क्रिय खातों में से कुछ खातों पर पाकिस्तान के निवासियों ने दावा किया गया है. खुद स्विट्जरलैंड के कई निवासियों के खातों और कई अन्य देशों के निवासियों के खातों पर भी दावा किया गया है.

पेट्रोल की कीमत में लगी आग, लगातार 5वें दिन दाम में हुई बढ़ोतरी, जानिए आपके शहर का रेट

आपके पास है PAN कार्ड तो जान लें ये जरूरी निमय, भरना पड़ सकता है 10 हजार रुपये का जुर्माना

First published: 12 November 2019, 12:10 IST
 
अगली कहानी