Home » बिज़नेस » iPhone could be cheaper in India, Apple ready to manufacture devices here
 

आईफोन हो सकता है सस्ता, मेक इन इंडिया पर एप्पल तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2016, 17:01 IST

दुनिया की प्रमुख तकनीकी कंपनी एप्पल के प्रमुख टिम कुक ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान तमाम संभावनाओं पर विचार-विमर्श किया. इसमें एक बात तो साफ हो गई कि आने वाले वक्त में आईफोन सस्ते हो सकते हैं क्योंकि एप्पल ने मेक इन इंडिया के तहत मैन्युफैक्चरिंग पर सहमति जताई.

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ टिम कुक ने एप्पल उत्पादों के विनिर्माण और भारतीय प्रतिभा को अपने साथ जोड़ने पर चर्चा की. इस दौरान कुक ने मोदी को बताया कि एप्पल भारत में अपना पहला डेवलपमेंट सेंटर हैदराबाद में खोलेगी. वहीं, कुक मोदी के मेक इन इंडिया कार्यक्रम से भी काफी प्रभावित हुए.

हैदराबाद स्थित केंद्र में 150 से ज्यादा डेवलपर एप्पल मैप पर कार्य करेंगे और इसके बाद यह केंद्र एप्पल के प्रमुख केंद्र में स्थानांतरित हो जाएगा. इससे प्रमुख केंद्र के कर्मचारियों की संख्या ढाई हजार तक पहुंच जाएगी.

पढ़ेंः माइक्रोसॉफ्ट प्रमुख सत्या नडेला की भारत यात्रा जल्द

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चर्चा करते एप्पल प्रमुख टिम कुक (मैकरुमर्स.कॉम)

इससे पहले 18 मई को एप्पल द्वारा बेंगलुरू में डिजाइन एंड डेवलपमेंट सेंटर खोलने की घोषणा की गई थी. अगले साल यानी 2017 में खुलने वाला यह केंद्र आईओएस ऐप डेवलपर्स की मदद करने के काम आएगा. 

वहीं, दूसरी प्रमुख बात एप्पल आईफोन के निर्माण को लेकर की गई. इसके तहत एप्पल ने खुलासा किया कि वो भारत में आईफोन का निर्माण नहीं करेगा. बल्कि ताइवानी कंपनी फॉक्सकॉन करेगी.

दरअसल एप्पल स्वयं आईफोन का निर्माण नहीं करती. बल्कि फॉक्सकॉन ही उसके लिए चीन में आईफोन मैन्युफैक्चर करती है. और भारत के बाहर भी मेक इन इंडिया कार्यक्रम की बढ़ती लोकप्रियता ने इसे यहां पर निर्माण करने के लिए प्रेरित किया.

बीते वर्ष फॉक्सकॉन द्वारा महाराष्ट्र में तमाम ब्रांडों के लिए पांच अरब अमेरिकी डॉलर (करीब 34,500 करोड़ रुपये) के निवेश की घोषणा की थी. जबकि इस वर्ष तमाम रिपोर्टों में बताया गया था कि फॉक्सकॉन, महाराष्ट्र में एप्पल डिवाइस की मैन्युफैक्चरिंग के लिए 10 अरब अमेरिकी डॉलर (करीब 67,000 करोड़ रुपये) की लागत का एक मैन्युफैक्चरिंग प्लांट निर्मित करेगी.

पढ़ेंः शाओमी ने अपना सबसे बड़ा फैबलेट किया लॉन्च, जानिए क्या है इसमें ख़ास

लेकिन हकीकत यह है कि फिलहाल इन योजनाओं की पुष्टि नहीं की गई है. साथ ही कंपनी द्वारा मुंबई के पास ही चीन की प्रमुख स्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी और भारतीय कंपनी रिलायंस जियो के हैंडसेट निर्माण के लिए स्थान ले लिया गया है.

First published: 22 May 2016, 17:01 IST
 
अगली कहानी