Home » बिज़नेस » IPL 2020 : News, entertainment channel viewership unaffected by IPL this year
 

इस बार IPL को टीवी पर नहीं मिल रहे दर्शक ? जानिए क्या कहती है चैनलों की व्यूअरशिप

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2020, 16:12 IST

बहुप्रतीक्षित इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) भारत जैसे क्रिकेट प्रेमी देश में एक-डेढ़ साल बाद लौटा लेकिन यह सामान्य मनोरंजन, समाचार, फिल्म या अन्य टेलीविजन से लोगों के ऑयबॉल चुराने में कामयाब नहीं रहा. आमतौर पर आईपीएल सीजन अन्य चैनलों के लिए दर्शकों की संख्या में 10 से 15 फीसदी गिरावट का कारण बनता है.

एक रिपोर्ट के अनुसार ब्रॉडकास्टर्स का कहना है कि COVID -19 ने टीवी पर दिन-प्रतिदिन कार्यक्रमों को देखने वाले लोगों के साथ नॉन-प्राइम टाइम स्लॉट्स में खपत पैटर्न को बदल दिया है, जिससे गैर-स्पोर्ट चैनलों के लिए दर्शकों की संख्या में संतुलन बना हुआ है.


उदाहरण के लिए BARC के आंकड़ों के अनुसार, हिंदी मनोरंजन चैनल बाजार में शीर्ष शो 'कुंडली भाग्य' के दर्शकों में पिछले सप्ताह केवल 13.4 मिलियन से 12.4 मिलियन इंप्रेशन तक गिरावट आयी. शीर्ष हिंदी समाचार चैनल, रिपब्लिक भारत में 2.7 बिलियन से इंप्रेशन घटकर 2.2 बिलियन रह गए.

क्षेत्रीय भाषाओं में शीर्ष तमिल शो पूजई, जिसने पिछले सप्ताह में 8.8 मिलियन इम्प्रैशन प्राप्त किये थे, उसे नम्मा वेट्टू पिल्लई ने 10.7 मिलियन इंप्रेशन साथ रिप्लेस कर दिया. BARC देश की टीवी मोनेटरिंग एजेंसी है, जिसकी नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार सप्ताह के सभी सात दिन में टीवी देखने वाले 68 मिलियन से दर्शक हैं और यह प्री -COVID की तुलना में 22 फीसदी बढे है.

यहां नई से महंगी हुई सेकंड हैंड कार, आपकी गाड़ी खरीदना चाहती है दुनिया की सबसे बड़ी तेल कारोबार कंपनी

GroupM के स्वामित्व वाली मीडिया एजेंसी MediaCom में महाप्रबंधक सोमित देब ने कहा कि विज्ञापनदाताओं के आईपीएल के आगमन के बावजूद गैर-स्पोर्ट्स चैनलों पर तेजी है. देब ने कहा "कुछ प्राइमटाइम स्लॉट्स पर असर पड़ सकता है, क्योंकि आईपीएल वास्तव में एक बड़ी फ्रेंचाइजी है, लेकिन कुल मिलाकर टीवी पर अधिक दर्शक आएंगे."

Unlock 5: 15 अक्टूबर से शुरू होंगे सिनेमा हॉल, क्या बदले नियम, पढ़िए सरकार की गाइडलाइन

First published: 6 October 2020, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी