Home » बिज़नेस » Iran replaces Saudi Arabia as India’s second-largest oil supplier in April-June period
 

सऊदी अरब को पछाड़कर ईरान बना भारत का दूसरा सबसे बड़ा तेल सप्लायर

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2018, 11:45 IST

अप्रैल और जून के बीच ईरान भारत का सबसे बड़ा तेल सप्लायर बन गया. इसे पहले इस स्थान पर सउदी अरब था. यह जानकारी केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को लोकसभा में दी. एक लिखित उत्तर में मंत्री ने कहा कि तेहरान ने रॉयटर्स की रिपोर्ट में बेहतर छूट, लगभग मुफ्त शिपिंग और तेल की बिक्री पर क्रेडिट अवधि की पेशकश की.

इन तीन महीनों में ईरान ने प्रति माह 5.67 मिलियन टन या 4,57,000 बैरल तेल प्रति दिन 19,978.46 करोड़ रुपये में भेजा. चीन के बाद भारत ईरान का शीर्ष तेल ग्राहक है. रॉयटर्स के मुताबिक 2017 में इसी अवधि के दौरान भारत ने ईरान से प्रतिदिन 2,79,000 बैरल आयात किए थे. हालांकि प्रधान ने पिछले साल के आंकड़े नहीं दिए थे.

 

ईरान से तेल खरीदने वाली राज्य संचालित कंपनियों में मैंगलोर रिफाइनरी और पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड, इंडियन ऑयल कॉर्प और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड शामिल हैं. हालांकि इराक भारत का सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता अभी भी बना हुआ है. नई दिल्ली ने इराक से लगभग 7.27 मिलियन टन तेल आयात किया. सऊदी अरब भारत को 5.22 मिलियन टन तेल शिपिंग करने के बाद तीसरे स्थान पर रहा.

यह आंकड़े उस समय सामने आये हैं जब भारत पर अमेरिका का दबाव है कि वह ईरान से तेल का आयात जल्द बंद करें. जून में अमेरिका ने जोर देकर कहा कि भारत समेत अन्य सहयोगी 4 नवंबर तक ईरान से कच्चे तेल के सभी आयात को बंद कर दें. एक अमेरिकी विदेश विभाग के अधिकारी ने कहा कि यदि ईरान से तेल आयात शून्य में कटौती नहीं की जाती है तो देश प्रतिबंधों के अधीन होंगे.

हालांकि भारत का कहना है कि वह ईरान से तेल के आयात के संबंध में अपने राष्ट्रीय हित को पहले देखेगा. प्रधान ने यह नहीं कहा कि क्या सरकार ने तेल कंपनियों से ईरान से आयात को कम करने के लिए कहा है.

उन्होंने कहा, "भारतीय रिफाइनरियां तकनीकी और व्यावसायिक विचारों के आधार पर ईरान समेत विभिन्न स्रोतों से कच्चे तेल का आयात करती हैं." हालांकि जून में ईरान से भारत का कुल तेल आयात मई से लगभग 16% घट गया.

ये भी पढ़ें : लगातार तीसरे दिन पेट्रोल-डीजल के दामों में मिली राहत, ये है आपके शहर का रेट

First published: 24 July 2018, 11:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी