Home » बिज़नेस » Irdai allows LIC to buy up to 51% stake in debt-ridden IDBI Bank
 

एनपीए से जूझ रहे IDBI बैंक में LIC खरीद सकती है 51 फीसदी हिस्सेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2018, 10:22 IST

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) बोर्ड ने शुक्रवार को आईडीबीआई बैंक में लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) को निवेश की मंजूरी दे दी है. अब इसके बाद एलआईसी आईडीबीआई बैंक में 51 फीसदी तक हिस्सेदारी खरीद सकती है. एलआईसी अब सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) के नियमों के तहत निर्धारित मूल्य पर नए इक्विटी शेयरों के आवंटन के माध्यम से बैंक में 100-130 अरब रुपये आईडीबीआई में निवेश करने में सक्षम हो जाएगा.

हालांकि, IRDAI ने बीमाकर्ता को निर्देश दिया कि वह आईडीबीआई बैंक में पांच-सात साल की अवधि में अपनी हिस्सेदारी कम करे. एलआईसी सूत्रों का कहना है कि यह केवल बीमाकर्ता के लिए निवेश होगा. एक सूत्र ने कहा, "एलआईसी बैंक में रणनीतिक निवेशक रहेगा और यह बैंक के प्रबंधन को नियंत्रित नहीं करेगा. 

हालांकि, बीमाकर्ता बैंक के बोर्ड में एक या दो निदेशकों की नियुक्ति करेगा. गौरतलब है कि आईडीबीआई बैंक वर्तमान में  50,000 करोड़ रुपये से अधिक के एनपीए से जूझ रहा है. एलआईसी की आईडीबीआई बैंक सहित छह सरकारी बैंकों में 10 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी है. इनमें मार्च 2018, तक आईडीबीआई में एलआईसी की 10.82 फीसदी हिस्सेदारी थी. साथ ही, इस बैंक में सरकार की हिस्सेदारी 80.96 फीसदी है.

ये भी पढ़ें : जेटली की सफाई, स्विस बैंक में सारा कालाधन नहीं, फैलाई जा रही भ्रामक जानकारी

First published: 30 June 2018, 10:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी