Home » बिज़नेस » jet airways major stake being sold just 1 rupee to SBI leaded konsorsium
 

क्या 1 रुपये में बिक जाएगी जेट एयरवेज, कल होगा इस एयरलाइन पर फैसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 February 2019, 17:12 IST

देशी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज पर सिर्फ 1 रुपये में बिकने का जा रही है. लेकिन 1 रुपये में एयरलाइन की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी बिकेगी. ऐसी बात सुनकर यकीन करना थोड़ा मुश्किल है. क्योंकि, अरबों के वैल्यू की इस एयरलाइन कंपनी की कीमत इतनी कम कैसे आंकी जा सकती है. कुछ समय पहले तक देश की शीर्ष एयरलाइंस में शुमार जेट एयरवेज पर बड़ी मात्रा में कर्ज है और दिन व दिन घाटा बढ़ता जा रहा है. पिछले कुछ महीनों से लगातार कंपनी रिवाइवल के लिए संघर्ष कर रही है. जेट एयरवेज के शीर्ष मैनेजमेंट के नाकाम रहने के बाद अब स्थिति सुधारने की जिम्मेदारी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अगुआई वाले कंसोर्शियम के पास है.

खबरों की मानें तो कंपनी की आधी हिस्सेदारी 1 रुपए में स्थान्तरित होने जा रही है. कंपनी को कर्ज देने वाले भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले सरकारी बैंकों के समूह ने कंपनी के 50.1 फीसदी शेयरों को 1 रुपए में लेने की बात कही है. यह डील कंपनी को दिए गए कर्ज के रिस्ट्रचर के लिए है. 21 फरवरी को यह डील निर्धारित है यानि जेट एयरवेज की किस्मत का फैसला होगा.

बेरोजगारों को केंद्र की सबसे बड़ी सौगात, मिलेगा इतने हजार रुपये भत्ता प्रतिमाह

इसलिए मुश्किल में फंसी जेट एयरवेज

एक समय पर जेट एयरवेज बड़े मार्केट शेयर के साथ अच्छी सेवाएं देने के लिए जानी जाती थी. इंडिगो, स्पाइसजेट, गो एयर और अन्य एयरलाइन आने के बाद इन कंपनियों से कम्पीटशन करने के लिए जेट ने किराया कम किया तो उसे नुकसान होने लगा. इसके बाद एविएशन फ्यूल महंगा होने की वजह से किराए बढ़ा और लोगों ने कम किराए वाले एयरलाइंस की तरफ रुख किया.

कमाई नहीं होने पर कंपनी लगातार लोन चुकाने में डिफॉल्ट करने लगी. कर्मचारियों की सैलरी देने के लिए रकम कम पड़ी और कई उड़ानें रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा. साल 2016-2017 में जेट एयरवेज ने मुनाफा दर्ज किया था. जबकि साल 2018 में उसे 767 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है. इस वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 587.8 करोड़ का घाटा दर्ज किया गया. पिछली चार तिमाही में कंपनी लगातार घाटे में रही है.

1 रुपए की डील

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) की अगुआई वाले कंसोर्शियम ने रिजर्व बैंक के फ्रेमवर्क के हिसाब से 11.40 करोड़ नए शेयर जारी करके 50.1 फीसदी हिस्सेदारी 1 रुपए में खरीदने का प्रस्ताव दिया है.

First published: 20 February 2019, 17:12 IST
 
अगली कहानी