Home » बिज़नेस » Jet Airways to stop flying with Amritsar, Mumbai more than 16,500 jobs in danger
 

अमृतसर से मुंबई उड़ान के साथ जेट एयरवेज बंद, 16,500 से ज्यादा नौकरियां खतरे में

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2019, 11:09 IST

भारत की सबसे बड़ी निजी एयरलाइन जेट एयरवेज ने बुधवार को परिचालन को निलंबित करने का फैसला किया क्योंकि ऋणदाताओं के एक संघ ने एयरलाइन के लिए 983 करोड़ रुपये के आपातकालीन धन पर विचार करने से इनकार कर दिया. जेट एयरवेज की आखिरी फ्लाइट 9W 3502 रात 10.20 बजे दो घंटे के अंतिम सफ़र पर अमृतसर से मुंबई के लिए थी. जेट एयरवेज ने कहा ने वह परिचालन शुरू रखने के लिए फ्यूल और अन्य खर्चों का वहन नहीं कर पायेगा.

इसके बाद जेट एयरवेज के शेयरों में गुरुवार को 34 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई. जेट एयरवेज, जो एक बार भारत की सबसे बड़ी निजी एयरलाइन थी, बुधवार शाम को भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व में ऋणदाताओं द्वारा अनिश्चितकाल के लिए सभी उड़ान संचालन को रोक दिया गया ताकि इसे जारी रखने के लिए अधिक धनराशि का विस्तार किया जा सके. गुरुवार के शुरुआती कारोबार में अप्रैल 2009 के बाद जेट शेयर सबसे निचले स्तर पर आ गए. 

नतीजतन, तत्काल प्रभाव से जेट एयरवेज अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय और घरेलू उड़ानों को रद्द करने के लिए मजबूर है. जेट एयरवेज की अंतिम उड़ान आज (बुधवार) संचालित की गई. एयरलाइन के परिचालन को बंद करने से सैकड़ों पायलटों सहित लगभग 16,500 से अधिक कर्मचारी, जिन्हें कई महीनों से वेतन नहीं दिया जा रहा था, बेरोजगार हो गए.

कर्मचारियों के लिए एक मेल में जेट एयरवेज के सीईओ विनय दूबे ने कहा, "बिक्री प्रक्रिया के दौरान हमारे कर्मचारियों के साथ क्या होता है, इस सवाल का आज हमारे पास कोई जवाब नहीं है." बैंकों के समूह की ओर से एसबीआई ने जेट एयरवेज की 32.1 से लेकर 75 फीसदी तक हिस्सेदारी की बिक्री के लिए बोलियां आमंत्रित करने का फैसला किया. जो 8 अप्रैल से 12 अप्रैल तक आमंत्रित की गई थी.

मुकेश अंबानी के पेट्रोकेमिकल व्यवसाय में हिस्सेदारी खरीदेगी सऊदी अरामको

First published: 18 April 2019, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी