Home » बिज़नेस » Jio lawsuit lawsuit against telecom companies COAI
 

टेलीकॉम वॉर : जियो ने किया टेलीकॉम कंपनियों की संस्था COAI पर मानहानि का मुकदमा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 February 2018, 16:07 IST

रिलायंस जियो इन्फोकॉम (जियो) ने सेल्यूइलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) को मानहानि नोटिस जारी किया है. सीओएआई लगभग सभी प्रमुख दूरसंचार कंपनियों की संस्था है. जियो का कहना है कि सीओएआई 48 घंटे भीतर सार्वजानिक तौर पर माफ़ी मांगे. दूरसंचार कंपनियों और उनके संगठन सीओएआई ने आरोप लगाया था कि टेलीकॉम नियामक ट्राई के नियमन दूरसंचार क्षेत्र में उतरने वाली नई कंपनी रिलायंस जियो के पक्ष में हैं.

कंपनी ने संगठन व इसके महानिदेशक राजन मैथ्यूज से 48 घंटे में सार्वजनिक माफी मांगने को कहा है. जियो ने यहां तक कहा है कि सीओएआई केवल भारती एयरटेल, वोडाफोन व आइडिया का बाजा और प्रवक्ता भर बनकर रह गया है. सीओएआई ने अपने बयान में कहा था कि दूरसंचार नियामक ट्राई के आदेश एक कंपनी को छोड़कर बाकी सभी कंपनियों के लिए नुकसानदायक हैं.

 

इससे पहले सीओएआई ने मंगलवार को कहा था कि पिछले 12-18 महीनों में ट्राई रिलायंस जियो का पक्ष ले रहा है जिसने खुद सितंबर 2016 में सेवाएं शुरू कीं. जियो ने आरोप लगाया कि सीओएआई "भारतीय दूरसंचार उद्योग की आधिकारिक आवाज थी, लेकिन अब वह भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सहित अन्य कम्पनियों का उपकरण और मुखपत्र बनकर रह गया है.

ये भी पढ़ें : Jio से जंग में Vodafone का रोजाना 4.5GB डाटा ऑफर

जियो का कहना है कि सेलुलर एसोसिएशन (COAI) TRAI के बाजार पहुंच और उपभोक्ताओं के लिए अधिक पारदर्शिता और कम लागत के लिए लक्षित कार्यों में रुकावट डाल रहा है.

सीओएआई ने अपने पहले बयान में कहा था कि टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) टैरिफ ऑर्डर के संशोधनों में एक विशेष ऑपरेटर की महत्वाकांक्षाओं को मजबूत करना है.

First published: 24 February 2018, 16:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी