Home » बिज़नेस » JNPT top bidder for Air India tower in Mumbai, with more than Rs 1,000 cr offer
 

कर्ज चुकाने के लिए अपनी इस 23 मंजिला बिल्डिंग को बेच रही है एयर इंडिया, मिला खरीदार

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2019, 15:12 IST

भारत के सबसे बड़े कंटेनर डिपो जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (JNPT) ने अरबों के कर्ज में डूबी एयर इंडिया के मुंबई स्थित प्रतिष्ठित 23-मंजिला टॉवर को खरीदने के लिए 1,000 करोड़ रुपये से अधिक की बोली लगाई है. जेएनपीटी की बोली भारतीय स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) से ज्यादा है, जिसने इस नीलामी में हिस्सा लिया था. एयर इंडिया का यह टावर नरीमन पॉइंट (मरीन ड्राइव) पर स्थित है.  

बिजनेस लाइन की रिपोर्ट के अनुसार हालांकि बोली के परिणाम अभी तक सार्वजनिक नहीं किये गए हैं. बोली को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है, क्योंकि JNPT की कीमत कोटेशन एयर इंडिया द्वारा निर्धारित कीमत से कम है.रिपोर्ट के अनुसार इस नीलामी में केवल दो बोलियां लगाई गई थी और जेएनपीटी ने सबसे ऊंची बोली लगाईं थी. जबकि राज्य सरकार ने शुरुआती रुचि दिखाने के बाद बोली नहीं लगाई.

जमीन राज्य सरकार द्वारा लीज पर ली गई है इसलिए कानूनी रूप से इसमें से एक NoC की आवश्यकता है. JNPT को टावर खरीदने के लिए पब्लिक इन्वेस्टमेंट बोर्ड (PIB) और कैबिनेट की मंजूरी लेनी होगी क्योंकि यह राशि 1,000 करोड़ रुपये से अधिक है.

इस टॉवर का निर्माण 1974 में किया गया था और इसे न्यूयॉर्क स्थित फर्म जॉनसन एंड बर्गी के जॉन बुर्जी ने डिजाइन किया था. यह 2013 तक एयर इंडिया का कॉर्पोरेट मुख्यालय था, जब 2007 में इंडियन एयरलाइंस के साथ विलय के बाद इसे नई दिल्ली में स्थानांतरित कर दिया गया था.

विलय के बाद एयर इंडिया ने अपने लोगो को फिर से खोल दिया. एयरलाइन ने कम से कम 16 शहरों में बिक्री के लिए आवासीय और वाणिज्यिक संपत्तियों की पहचान की है. एयर इंडिया को वित्त वर्ष 18 में 5,337 करोड़ और वित्त वर्ष 17 में 6,281 करोड़ का घाटा हुआ था.

टेस्ला ने उम्मीद से पहले चीन में शुरू की अपनी इन कारों की डिलीवरी

First published: 22 February 2019, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी