Home » बिज़नेस » Know why Adidas will sell only 7000 pairs of this shoes in the world? @Parleyxxx
 

जानिए क्यों एडिडास इस जूते के केवल 7,000 जोड़ियां ही बेचेगा दुनिया में?

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST

स्पोर्टस वियर बनाने वाली दुनिया की प्रमुख कंपनी एडिडास एक ऐसे स्पोर्ट्स शूज को लेकर सामने आया है, जिसमें कई खूबियां हैं. और इसकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि कंपनी इसके दुनिया भर में केवल 7,000 पीस ही बेचेगी. आखिर क्या खास है इस जूते में जानिए.

दरअसल एडिडास ने समुद्र में फैलते प्लास्टिक वेस्ट (प्लास्टिक की गंदगी) को साफ करने वाली संस्था पार्ले फॉर द ओसिएंस से हाथ मिलाया है. दोनों मिलकर समुद्र से निकलने वाली प्लास्टिक को रिसाइकिल कर इस मैटेरियल से जूते बना रहे हैं.

जानिए कोका कोला के नए फ्लेवर के बारे में

पिछले साल इन्होंने एक 3-D प्रिंटेड प्रोटोटाइप को भी पेश किया था. एडिडास के मुताबिक इंडस्ट्री को यह दिखाने के मकसद से हमनें प्रोटोटाइप पेश किया था कि वे डिजाइन के बारे में पुनः सोचें और समुद में हो रहे प्लास्टिक के प्रदूषण को रोकें.

अब दोनों ने मिलकर इस रिसाइकिल्ड प्लास्टिक से हकीकत के जूते निर्मित कर दिए हैं. नवंबर के मध्य से कंपनी इसे अपने रिटेल स्टोर्स और ऑनलाइन चैनल के जरिये 220 डॉलर (करीब 14,600 रुपये) में बेचेगी. लेकिन पूरी दुनिया में इस स्पेशल डिजाइन और मैटेरियल वाले जूते की केवल 7,000 जोड़ी ही बिक्री के लिए उपलब्ध होंगी.

गोली खाओ और कभी भी-कहीं भी टीवी का मजा उठाओ

इस जूते की खासियत यह है कि इसका अपर (ऊपरी हिस्सा) 95 फीसदी समुद्री प्लास्टिक से बना हुआ है, जिसे मालदीव्स के पास से जुटाया गया. जबकि जूते का बाकी हिस्सा ज्यादातर रिसाइकिल्ड मैटेरियल्स से ही बना है. कंपनी ने इसका नाम 'अल्ट्रा बूस्ट अनकेज्ड पार्ले' रखा है.

यूं तो फिलहाल कंपनी इसकी केवल 7,000 जोड़ी ही बिक्री के लिए मुहैया कराएगी. लेकिन एडिडास की इस तरह के जूतों के लिए बड़ी योजना है.

ज्यादा कमाना और ज्यादा जीना चाहते हैं तो ऐसे किस करें

द वर्ज के मुताबिक एडिडास ने कहा, "2017 में हम पार्ले ओसिएन प्लास्टिक के इस्तेमाल से 10 लाख जूते बनाएंगे. और हमारा अंतिम लक्ष्य यह है कि हम अपनी सप्लाई चेन से वर्जिन प्लास्टिक को समाप्त कर दें."

इतना ही नहीं एडिडास ने पार्ले के साथ मिलकर स्पोर्ट्स टीम की जर्सी का भी निर्माण किया है. लेकिन यह जर्सियां स्टोर्स में कब मिलेंगी अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है.

अब ट्रैफिक सिग्नल की रेड लाइट पर नहीं लगाने पड़ेंगे ब्रेक

First published: 8 November 2016, 12:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी