Home » बिज़नेस » Kuwait Petroleum talks to buy 24 percent of the Bina joint venture refinery in central India
 

MP की बीना रिफाइनरी पर कुवैत पेट्रोलियम की नजर, खरीद सकती है 24 % हिस्सेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 May 2018, 13:03 IST

कुवैत पेट्रोलियम इंटरनेशनल (केपीआई) मध्य प्रदेश में बीना जॉइंट वेंचर रिफाइनरी में 24 प्रतिशत हिसेदारी खरीदने के लिए बात कर रही है. अख़बार बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के अनुसार दो विदेशी सूत्रों ने इस मामले में कहा कि पश्चिम एशिया का देश दक्षिण एशियाई बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाना चाहता है.

रिपोर्ट क अनुसार दुनियाभर के तेल उत्पादक भारत के प्रवेश पाने के इच्छुक हैं. विश्व की तीसरी सबसे बड़ी तेल आयातक बढ़ती ईंधन मांग को पूरा करने के लिए 2030 तक अपनी क्षमता 77 प्रतिशत बढ़ाकर 8.8 बीपीडी बढ़ाने की योजना बना रही है.

 

रिपोर्ट के अनुसार केपीआई अभी अपनी बातचीत के शुरुआती दौर में है. गौरतलब है कि 120,000-बीपीडी वाली बीना संयंत्र ओमान ऑयल कंपनी संचालित करती है और इसमें भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन की 50 फीसदी हिस्सेदारी है. बीपीसीएल ने बीना रिफाइनरी का विस्तार 156,000 बीपीडी तक बढ़ाया है जो इस वर्ष के अंत में पूरा किया जाना है.

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड सितंबर में 120,000 बैरल प्रति दिन (बीपीडी) वाली संयुक्त उद्यम बीना रिफाइनरी को 45 दिनों के लिए बंद कर देगा.
शटडाउन के दौरान, संयंत्र 156,000 बीपीडी तक संयंत्र की क्षमता बढ़ाने के लिए विभिन्न इकाइयों में संशोधन करेगा.

इस कैलेंडर वर्ष के अंत से पहले रिफाइनरी स्थिर रहेगी और 7.8 मिलियन टन (156,000 बीपीडी) की वार्षिक दर (ऑपरेटिंग) शुरू करेगी.

बीना रिफाइनरी का संचालन ओमान ऑयल कंपनी और सरकारी कंपनी भारत पेट्रोलियम कार्पोरेशन करती है इस संयुक्त उद्यम में दोनों की 50-50 हिस्सेदारी है.

ये भी पढ़ें- खुशखबरी: LPG के दामों में सरकार ने की कटौती, अब इतने रुपये में मिलेगा सिलेंडर

First published: 2 May 2018, 13:03 IST
 
अगली कहानी