Home » बिज़नेस » Last year, $ 7,000 millionaire was left to the country, is it not a matter of concern?
 

पिछले साल 7,000 डॉलर मिलेनियर देश छोड़ गए, क्या यह चिंता की बात नहीं है?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2018, 16:01 IST

हाल ही की रिपोर्ट है कि 7,000 भारतीय डॉलर करोड़पति पिछले साल देश छोड़ गए. मॉर्गन स्टेनली इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट के एक अध्ययन के मुताबिक, पिछले चार वर्षों में कुल 23,000 धनी भारतीय  (1 मिलियन डॉलर से अधिक की शुद्ध संपत्तियों के साथ) भारत छोड़ चुके हैं. ये भारतीय ब्रिटेन, दुबई और सिंगापुर जैसे देशों में रह रहे हैं.

इस अध्ययन में यह भी कहा गया है कि ये करोड़पतियों की आबादी का 2.1 फीसदी है. इस संख्या का चीन से तुलना करें तो यह कहीं ज्यादा है. चीन में देश छोड़ने वाले करोड़पतियों की संख्या 1.1 फीसदी रही. क्या भारतीय समृद्ध लोग जल्द ही देश से निकल जाने की जल्दी में हैं, ताकि ज्यादा खर्च कर सकें.

करोड़पतियों के पलायन करने की यह प्रवृत्ति नहीं नहीं है. विश्व स्तर पर करीब 12,000 फ्रांसीसी और 8,000 ब्राजीली करोड़पति 2016 में अपने-अपना देश छोड़ गए. उसी साल भारत और चीन में यह संख्या 6,000 और 9,000 थी.

करोड़पतियों के देश छोड़ने के कारण पिछले 10 सालों में चीन ने लगभग 3.8 खरब डॉलर खो दिए. भारत में दुनिया के 2 प्रतिशत करोड़पति और 5 प्रतिशत ख़रबपति हैं और ये संख्या लगातार बढ़ रही है.

क्रेडिट सुइस की नवीनतम ग्लोबल वेल्थ रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2,45,000 करोड़पति हैं और 2022 तक यह संख्या 3,72,000 पहुंचने की उम्मीद है. भारत में घरेलू संपत्ति 2022 में $ 7.1 ट्रिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 2017 में 5 ट्रिलियन डॉलर थी.

जब बड़ी संख्या में करोड़पति देश छोड़ रहे हैं, तो यह ध्यान रखना चाहिए कि देश में अधिक करोड़पति भी बनाए जा रहे हैं. भारत छोड़ने वाले ज्यादातर लोगों के निवेश रियल एस्टेट में हैं.

First published: 25 March 2018, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी