Home » बिज़नेस » LED TV to get cheaper as government reduces import duty
 

LED TV होंगे सस्ते, सरकार ने इंपोर्ट ड्यूटी को लेकर किया ये एलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2018, 16:29 IST

अगर आप नया टीवी खरीदने जा रहे हैं तो आपके लिए राहत की खबर आई है. सरकार ने विदेश से इंपोर्ट होने वाले एलईडी टीवी के पैनल पर इंपोर्ट ड्यूटी में 5 फीसदी की कटौती कर दी है. जिससे एलईडी टीवी की कीमतों में कमी की हो सकती है. बता दें इससे मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिलेगा. इंपोर्ट ड्यूटी कम होने से एलईडी टीवी बनाने वाली कंपनियों को काफी राहत मिली है.

इंपोर्ट ड्यूटी में हुई कटौती

वित्त मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी कर बताया है कि सरकार ने 15.6 इंच के ओपन सेल डिसप्ले पर इंपोर्ट ड्यूटी घटाकर 5 फीसदी कर दी है, जो पहले 10 फीसदी थी. बता दें कि सरकार ने पिछले बजट में ओपन सेल पैनल पर 10 फीसदी ड्यूटी लगाई थी, जबकि इससे पहले कोई ड्यूटी नहीं लगती थी. इसके बाद कंपनियों ने टीवी की खुदरा कीमतें 5 से 6 फीसदी बढ़ा दीं. साथ ही, उन्होंने ड्यूटी बढ़ने से रोजगार के नए मौके प्रभावित होने की आशंका जताई थी. कंपनियों का कहना था कि इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ने से भारत में तैयार करने की जगह बना-बनाया टेलिविजन सेट इंपोर्ट करना सस्ता होगा.

भारत में एलईडी टीवी असेंबल करती हैं कंपनियां

ओपन सेल पैनल्स के मामले में कंपनियां देश में बनने वाले एलईडी टीवी में असेंबल करती हैं, जो एलईडी टीवी के लिए जरूरी पार्ट है. सैमसंग, एलजी और पैनासोनिक जैसी कंपनियां बीते दो महीने से इसी रूट का इस्तेमाल कर रही हैं और उन्होंने ओपन सेल असेंबलिंग यूनिट में खासा निवेश भी किया है. सरकार द्वारा फिनिस्ड टेलीविजन सेट्स पैनल पर 20 फीसदी और फिनिस्ड टेलीविजन पैनल पर 15 फीसदी कस्टम ड्यूटी बढ़ाये जाने के बाद ऐसा किया था.

कंपनियों ने जताई खुशी

बेसिक कस्टम ड्यूटी में कमी का सरकार का फैसला मेक इन इंडिया की दिशा में बढ़ाया गया कदम है, जिससे भारत में टीवी मैन्युफैक्चरिंग की नई कैपेसिटी डेवलप करने की दिशा में काम तेज होगा. एक कंपनी के एग्जीक्यूटिव का कहना है कि अब कंपनियां डिमांड बढ़ाने के लिए ओपन सेल पैनल पर 5 फीसदी टैक्स का बोझ खुद उठाने की कोशिश करेंगी, क्योंकि बीते साल अक्टूबर से सेल्स को रफ्तार नहीं मिल रही है.

ये भी पढ़ें- राज्यसभा चुनाव: भाजपा को 59 में से 28 सीटें, लेकिन एनडीए अभी भी बहुमत से दूर

First published: 24 March 2018, 16:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी