Home » बिज़नेस » Lenders jittery as Anil Ambani's wealth falls 26% since January to $1.2 bn
 

ऋणदाताओं को क्यों लगने लगा है कि अनिल अंबानी के पास उनके पैसे अब फंस चुके है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 February 2019, 10:10 IST

 

रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) के लेनदार चिंतित हैं क्योंकि प्रमोटर अनिल अंबानी की व्यक्तिगत शुद्ध संपत्ति में इस साल जनवरी से 26 प्रतिशत की गिरावट आई है, जो कि समूह की कंपनियों के शेयर की कीमतों में लगातार गिरावट के कारण $ 1.2 बिलियन है. ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के मुताबिक अंबानी को मंगलवार तक साल भर में करीब 408 मिलियन डॉलर की व्यक्तिगत संपत्ति का नुकसान हुआ है.

मुंबई के एक ऋणदाता ने कहा, "ऐसा लगता है कि हमारे पैसे वापस आने की संभावना कम है." आरकॉम का भारतीय बैंकों पर 45,000 करोड़ रुपये का बकाया है और उसने जून 2017 से अपना बकाया नहीं चुकाया है. अब उसने कर्ज समाधान के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल का रुख किया है. रिलायंस कम्युनिकेशंस में 53 प्रतिशत हिस्सेदारी के अलावा, अंबानी के पास रिलायंस पावर में लगभग 33 प्रतिशत और रिलायंस कैपिटल में 52 प्रतिशत का स्वामित्व है.

समूह का मनोरंजन प्रभाग सामग्री का उत्पादन करता है और स्टीवन स्पीलबर्ग के ड्रीमवर्क्स स्टूडियो में हिस्सेदारी है. इस महीने की शुरुआत में दिवालियापन के लिए आरकॉम द्वारा दायर किए जाने के बाद स्टॉक एक्सचेंज में अंबानी का बुरा दौर शुरू हुआ.

अनिल अंबानी समूह की सभी फर्मों के शेयरों में गिरावट शुरू हुई और समूह ने एडलवाइस फाइनेंस और एलएंडटी फाइनेंस को "अवैध रूप से" शेयर बाजारों में अपने गिरवी रखे हुए शेयरों को बेचने के लिए दोषी ठहराया. एडीए समूह के प्रवर्तक संस्थाओं ने ऑपरेटिंग कंपनियों में दांव लगाकर लगभग 11 ऋणदाताओं से धन जुटाया था.

अनिल अंबानी को SC ने ठहराया अवमानना का दोषी, नहीं चुकाए 453 करोड़ तो जायेंगे जेल

First published: 21 February 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी