Home » बिज़नेस » LIC New policy lic jeevan pragti Invest only Rs 200 in this plan you will get 28 lakhs after 20 years
 

LIC के इस प्लान में करें सिर्फ 200 रुपये निवेश, इतने साल बाद मिलेंगे पूरे 28 लाख

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 November 2019, 12:10 IST

अगर आपकी आमदनी कम है और आप बचत नहीं कर पाते हैं तो आपके लिए LIC कई तरह की पॉलिसी लाता है. इसमें आपको लाइफ इंश्योरेंस प्लान के साथ बेहतरीन लाइफ कवर भी मिलता है. आज हम आपको एलआईसी की ऐसी ही एक पॉलिसी के बारे में बताने जा रहे हैं तो आपके लिए बेहद किफायती हो सकती है जो कम पैसों के निवेश करने पर भी कुछ ही सालों में आपको लखपति बना सकती है. हम बात कर रहे हैं एलआईसी जीवन प्रगति प्लान की. जिसमें आपको 200 रुपये के निवेश पर अच्छा खासा रिटर्न मिलेगा. तो चलिए जानते हैं एलआईसी का जीवन प्रगति प्लान के बारे में.

बता दें कि एलआईसी की इस पॉलिसी में हर पांच साल पर रिस्क कवर बढ़ता है. इस पॉलिसी में हर पांच साल में रिस्क कवर बढ़ता है. वहीं ये पॉलिसी मार्केट से लिंक्ड नहीं है. ये स्कीम कम अवधि में ज्यादा फायदा देने की क्षमता रखती है. बता दें कि ये एक एंडाओमेंट योजना है जिसके साथ आपको अपने पैसे पर पूरी सुरक्षा मिलती है.

एलआईसी के इस प्लान के तहत 200 रुपये रोजाना निवेश करने होंगे. जिसमें आपको 20 साल बाद 28 लाख रुपये का फंड मिलेगा. इसे इस तरह से समझें. जैसे अगर किसी शख्स ने 30 साल की उम्र में एलआईसी जीवन प्रगति प्लान में प्रीमियम देना शुरू किया. जिसमें आपको 20 साल बाद उसे 28 लाख रुपये का फंड मिल जाएगा.

इसके लिए आपको सालाना 74,387 रुपये का प्रीमियम देना होगा. वहीं छह-छह महीने दिए जाने वाले प्रीमियम के तौर पर 37,583 रुपये देने होंगे. अगर आप तिमाही आधार पर प्रीमियम देने का विकल्प चुनने होंगे. जिसमें आपको 18,937 रुपये का प्रीमियम देना होगा. 

वहीं अगर आप मासिक प्रीमियम का ऑप्शन लेते हैं तो आपको 6,329 रुपये का प्रीमियम देना होगा, जो एक दिन के हिसाब से 204 रुपये बैठता है. वहीं इस पॉलिसी में पहले साल प्रीमियम के तौर पर आपको 4.5 फीसदी टैक्स के साथ देना होगा. वहीं ऊपर बताई गई रकम टैक्स की रकम के साथ है. इसके अलावा पहले साल का प्रीमियम भरने के बाद टैक्स कम होकर सवा दो फीसदी हो जाता है.

अगर आपका भी है पीएफ अकाउंट तो ये है जरूरी खबर, EPFO ने शुरु की ये नई सर्विस

अक्टूबर में भारत की बेरोजगारी की दर 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची : CMIE

First published: 3 November 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी