Home » बिज़नेस » Linking Aadhaar with voter ID may be mandatory: Here's what you must know
 

आपके वोटर आईडी कार्ड से भी लिंक होगा आपका आधार, होंगे ये लाभ

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 December 2018, 11:14 IST

क्या आपने अभी तक अपने मतदाता आईडी को आधार से जोड़ा है? अगर आपने ऐसा नहीं किया है तो यह आपको जल्द करना पड़ सकता है. इकोनॉमिक टाइम्स में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक चुनाव आयोग आधार संख्या को मतदाता आईडी से जोड़ने के लिए तैयार है. रिपोर्ट में कहा गया है, "आयोग पीपुल्स एक्ट 1951 में संशोधन का प्रस्ताव देगा, जिसके लिए नागरिकों को 12 अंकों के आधार के साथ अपने चुनावी फोटो आईडी कार्ड (ईपीआईसी) को जोड़ने की आवश्यकता होगी.

अक्टूबर में चुनाव आयोग ने मद्रास उच्च न्यायालय को सूचित किया कि इसमें आधारभूत रोल और मतदाता पहचान पत्र के साथ आधार जोड़ने से उसे कोई परेशानी नहीं है. आयोग ने हालांकि केंद्र की प्रमुख आधार योजना पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ध्यान में रखते हुए एक निर्णय लिया है.

आयोग ने कहा कि आधार पर जुड़े मामले में खर्च किए जाने वाले खर्चों पर भी विचार करना होगा. 2015 में कमीशन ने 'स्वैच्छिक' आधार लिंकिंग शुरू की थी. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने गोपनीयता चिंताओं पर प्रक्रिया को रोक दिया. उस समय तक इसमें लगभग 380 मिलियन मतदाता शामिल थे.

भारत में वर्तमान में 750 मिलियन से अधिक पंजीकृत मतदाता हैं. एक पीआईएल ने आधार पर मतदाता आईडी को अनिवार्य रूप से जोड़ने की मांग की. याचिकाकर्ता एम एल रवि ने फर्जी मतदाताओं के प्रवेश की जांच के लिए आधार को मतदाता आईडी के साथ जोड़ने की मांग की.

ये भी पढ़ें : पेट्रोल-डीजल के दामों के अच्छे दिन खत्म, चुनावी नतीजों के बाद बढ़ गए पेट्रोल के दाम, डीजल स्थिर

First published: 13 December 2018, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी