Home » बिज़नेस » Live Stock Market Updates - Sensex tanks over 350 points
 

हिलेरी क्लिंटन और ट्रंप के बीच होने वाले डिबेट पर टिकी बाजार की नजर, 400 अंक टूटा सेंसेक्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2016, 15:58 IST
QUICK PILL
  • फेडरल रिजर्व की बैठक के बाद कमजोर वैश्विक संकेतों की वजह से हफ्ते के पहले दिन भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट आई है. 
  • बंबई स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स सुबह करीब 50 अंकों से अधिक की कमजोरी के साथ खुला लेकिन बाद में यह कमजोरी गहरा गईर्. बीएसई सेंसेक्स 1.30 फीसदी टूटकर 373.94 अंक की कमजोरी के साथ 28,294.28 अंक पर बंद हुआ.
  • बाजार में आई कमजोरी की वजह एशियाई बाजारों में  आई कमजोरी रही क्योंकि निवेशकों का ध्यान अब फेडरल रिजर्व की बैठक के बदले अमेरिकी राजनीति की तरफ चला गया है.

फेडरल रिजर्व की बैठक के बाद कमजोर वैश्विक संकेतों की वजह से हफ्ते के पहले दिन भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट आई है. 

बंबई स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स सुबह करीब 50 अंकों से अधिक की कमजोरी के साथ खुला लेकिन बाद में यह कमजोरी गहरा गई. बीएसई सेंसेक्स 1.30 फीसदी टूटकर 373.94 अंक की कमजोरी के साथ 28,294.28 अंक पर बंद हुआ.

बाजार में आई कमजोरी की वजह एशियाई बाजारों में  आई कमजोरी रही क्योंकि निवेशकों का ध्यान अब फेडरल रिजर्व की बैठक के बदले अमेरिकी राजनीति की तरफ चला गया है.

ओएनजीसी, टाटा मोटर्स, आईसीआईसीआई बैंक, एनटीपीसी, आईटीसी और गेल सेंसेक्स में सबसे अधिक टूटने वाले शेयर रहे. 

मिडकैप में करीब 70 अंकों की कमजोरी आई. हालांकि मिड कैप फॉर्मा शेयरों में जबरदस्त तेजी रही. बीएसई मिडकैप इंडेक्स में अल्केम, वॉकहॉर्ट और टॉरेंट पावर में जबरदस्त तेजी का रुख रहा. स्मॉल कैप इंडेक्स भी करीब 70 अंक कमजोर होकर 12,889.50 पर बंद हुआ.

ऑटो इंडेक्स में जबरदस्त बिकवाली हुई और यह 388.85 अंक टूटकर 22,253.85 पर बंद हुआ. सबसे अधिक नुकसान टाटा मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, हीरो मोटोकॉर्प और बॉश लिमिटेड के शेयरों में हुआ.

निवेशकों का ध्यान अब फेडरल रिजर्व की बैठक के बदले अमेरिकी राजनीति की तरफ चला गया है.

सेंसेक्स में आई कमजोरी की वजह ऑटो और बैंकिंग शेयरों का टूटना रहा. बीएसई बैंकिंग इंडेक्स 365.58 अंक टूटकर 22,387.07 पर बंद हुआ. बैंकिंग शेयरों में सबसे अधिक नुकसान आईसीआईसीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा को हुआ. 

वहीं मेटल और ऑयल एंड गैस में तेजी का दौर रहा. बीएसई मेटल इंडेक्स करीब 23 अंकों की मजबूती के साथ बंद हुआ तो ऑयल एंड गैस में करीब 10 अंकों की तेजी रही.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी एक फीसदी से अधिक तक टूट गया. निफ्टी 108.50 अंक टूटकर 8,723.75 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी में 43 शेयर लाल निशान में जबकि 8 शेयर हरे निशान में बंद हुए.

निवेश पर राजनीति हावी

घरेलू बाजार में आई दबाव की वजह अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव है. सोमवार को रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डॉनल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के बीच डिबेट होना है.

दरअसल रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डॉनल्ड ट्रंप की तरफ से की गई टिप्पणी को लेकर भारतीय कंपनियां चिंतित हैं. हालांकि विश्लेषकों के एक धड़े का मानना है कि सोमवार को होने वाली बहस के नजीजों से बाजार पर किसी तरह की संभावना पड़ने की आशंका कम ही है. 

इसके अलावा बाजार की नजर ओपेक की बैठक पर भी होगी. 26 से 28 सितंबर के बीच अल्जीरिया में ओपेक की बैठक हो रही है जिसमें उत्पादन को घटाने या उसकी मात्रा तय किए जाने पर विचार किया जाएगा. 

First published: 26 September 2016, 15:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी