Home » बिज़नेस » Lockdown: Swiggy fired 1100 employees after Zomato
 

Lockdown : Zomato के बाद अब Swiggy 1100 कर्मचारियों को नौकरी से निकालेगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2020, 15:25 IST

Coronavirus : Zomato के बाद फूड डिलीवरी स्टार्टअप Swiggy ने देश भर में चल रहे कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच लागत में कटौती करने के उद्देश्य से अपने 1,100 कर्मचारियों की छंटनी करने की घोषणा की है. एक रिपोर्ट के अनुसार कर्मचारियों को लिखे एक पत्र में कंपनी के को-फाउंडर और सीईओ श्रीहरि मजेटी ने लिखा "मुख्य फूड डिलीवरी व्यवसाय गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है और अल्पावधि में प्रभावित रहेगा."

पिछले साल अक्टूबर तक स्विगी के पेरोल पर लगभग 8,000 कर्मचारी थे. सभी प्रभावित कर्मचारी अपने नोटिस पीरियड या कार्यकाल के बावजूद कम से कम 3 महीने का वेतन प्राप्त करेंगे. कंपनी उनके नोटिस पीरियड के भुगतान के अलावा एक अतिरिक्त महीने का भुगतान भी करेगी. अगर किसी की नोटिस अवधि तीन महीने है और उन्होंने कंपनी में पांच साल बिताए हैं, तो उन्हें 8 महीने का वेतन मिलेगा.


कंपनी ने कहा कि उसने पहले ही अपनी कई क्लाउड किचन सुविधाओं को बंद कर दिया है. Swigg उन स्टार्टअप्स में से एक है, जो COVID-19 महामारी के कारण में कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही हैं. इससे पहले Zomato ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह 500 से अधिक कर्मचारियों कम कर रहा है, जो कुल वर्कफाॅर्स का 13 फीसदी हैं.

Zomato ने सभी कर्मचारियों के लिए जून से शुरू होने वाले वेतन में अस्थायी कटौती का भी प्रस्ताव रखा है. वायरस ने पिछले दो महीनों में खाद्य वितरण व्यवसाय को बुरी तरह प्रभावित किया है. देश भर के होटल और रेस्तरां अपने दरवाजे बंद करने के लिए मजबूर हो गए हैं. भारत में वर्तमान में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ दो महीने से लॉकडाउन चल रहा है. भारत में कुल 95,000 से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं.

Lockdown 4.0: कर्नाटक सरकार ने दी दुकानें, ट्रेन, कैब और बसों की अनुमति

First published: 18 May 2020, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी