Home » बिज़नेस » Maruti Suzuki India cuts temporary workforce by 6% as sales plummet
 

मंदी का असर : मारुति अस्थायी अनुबंधों पर काम कर रहे 6 फीसदी वर्कर कम किये

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2019, 13:13 IST

 

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने वाहन बिक्री में गिरावट के बाद अस्थायी अनुबंधों (temporary contracts) पर काम करने वाले श्रमिकों की संख्या में कटौती की है. वाहन उद्योग जो देश के विनिर्माण उत्पादन का लगभग आधा हिस्सा रखता है, लगभग एक दशक के सबसे खराब मंदी के दौर से गुजर रहा है. पिछले कुछ समय से वाहनों की बिक्री में रिकॉर्ड गिरावट आयी है. मारुति सहित कई वाहन निर्माताओं ने बड़ा घाटा सहा है.

मारुति ने कहा कि उसने 30 जून को समाप्त हुए 6 महीनों के दौरान औसतन 18,845 अस्थायी श्रमिकों को काम पर रखा, जो पिछले साल की समान अवधि से 6 प्रतिशत या 1,181 लोग थे.कंपनी ने अप्रैल से नौकरी में कटौती को तेज कर दिया है.

 

मारुति सुजुकी एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में बिकने वाले यात्री वाहनों में से दो में से एक का उत्पादन करती है. जुलाई 2018 की तुलना में जुलाई में बिक्री में 33.5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की और 109,265 वाहनों की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई.

अब HDFC के चीफ दीपक पारेख ने कहा- मंदी के दौर से गुजर रही है अर्थव्यवस्था

First published: 3 August 2019, 12:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी