Home » बिज़नेस » Mercedes Benz left behind Audi in India in 2015, sold record vehicles
 

2015 में भारत मर्सडीज़ के लिए सबसे अच्छा बाजार साबित हुआ

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2016, 23:31 IST
QUICK PILL
  • मर्सडीज बेंज ने घोषणा की है कि उसने भारत में जनवरी से लेकर दिसंबर 2015 तक 13,502 वाहनों की बिक्री करते हुए अन्य लग्जरी कार ब्रांडों को पीछे छोड़ दिया.
  • ऑडी द्वारा 2014 में जहां 10,851 वाहनों की बिक्री की गई थी, 2015 में कंपनी ने तीन फीसदी की वृद्धि करते हुए 11,192 के आंकड़े को छुआ.

देश में न केवल बजट कारों बल्कि लग्जरी कारों का बाजार भी बढ़ता जा रहा है. साल 2015 दुनिया के मशहूर कार ब्रांड मर्सडीज बेंज के लिए भारत का बाजार सबसे बेहतर साबित हुआ. 

मर्सडीज बेंज ने घोषणा की है कि भारत के इतिहास में वर्ष 2015 सबसे ज्यादा सफल साबित हुआ. कंपनी ने जनवरी से लेकर दिसंबर 2015 तक 13,502 वाहनों की बिक्री करते हुए अन्य लग्जरी कार ब्रांडों को पीछे छोड़ दिया. वहीं, देश में बिक्री के मामले में पुराने खिलाड़ी ऑडी ने इस दौरान 11,192 वाहन बेचे.

जर्मन कार निर्माता कंपनी द्वारा जारी एक बयान में बताया गया है कि भारत में 2015 अब तक कंपनी की सबसे ज्यादा बिक्री वाला वर्ष बन गया है. मर्सडीज बेंज इंडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ रोनाल्ड फॉल्जर के मुताबिक जनवरी से दिसंबर 2014 के दौरान भारत में 10,201 वाहनों की बिक्री हुई थी. 

इसके बाद अगले वर्ष यानी 2015 में कंपनी ने वाहन बिक्री की दर में बीते साल की तुलना में 32 फीसदी का इजाफा दर्ज किया. इन आंकड़ों के मुताबिक कंपनी ने अपने एसयूवी सेगमेंट में रिकॉर्ड 100 फीसदी के इजाफे का दावा किया है. 

देश में मर्सडीज की सर्वाधिक बिकने वाली कारों में सीएलए, सी क्लास, ई क्लास और एस क्लास जैसी इसकी लग्जरी सेडान शामिल हैं. इस सेगमेंट ने रिकॉर्ड बिक्री दर स्थापित करते हुए 42 फीसदी की अतिरिक्त उछाल लगाई.

कंपनी की एक्सक्लूसिव और श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली मर्सडीज एएमजी ने भी उंची छलांग लगाते हुए 54 फीसदी की बढ़त दिखाई. 

सेगमेंट आधारित बिक्री में सी क्लास ने ई क्लास को पीछे छोड़ते हुए 90 फीसदी की बढ़त दर्ज की. कंपनी ने एक दिलचस्प बात का भी जिक्र किया है जिसमें बताया कि पंरपरागत माध्यमों और शोरूमों के अलावा 503 मर्सडीज कारें ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिये बेची गईं.

दूसरी ओर ऑडी कंपनी द्वारा 2014 में जहां 10,851 वाहनों की बिक्री की गई थी, 2015 में कंपनी ने तीन फीसदी की बढ़त दर्ज करते हुए 11,192 के आंकड़े को छुआ.

First published: 11 January 2016, 23:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी