Home » बिज़नेस » #MeToo campaign entered in Corporate Business, Tata sent the employee on leave
 

#MeToo की चपेट में अब कॉर्पोरेट जगत भी, टाटा ने कर्मचारी को छुट्टी पर भेजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2018, 15:25 IST

टाटा मोटर्स लिमिटेड ने महिला कर्मचारियों के साथ अनुचित व्यवहार के आरोपों के बाद अपने कॉर्पोरेट संचार के प्रमुख को छुट्टी पर भेज दिया है. इसी के साथ पहली बार #MeToo अभियान ने बॉलीवुड और मीडिया से निकलकर भारतीय कॉर्पोरेट दुनिया को भी हिलाकर रख दिया है. ट्विटर पोस्ट में जगुआर लैंड रोवर के भारतीय मालिक ने कहा कि उसने सुरेश रंगराजन से को छुट्टी पर भेज दिया है.

#MeToo अभियान के तहत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि अब समय आ गया है कि सभी लोग महिलाओं के साथ सम्मान और गरिमा से पेश आने का सलीखा सीख लें. कांग्रेस अध्‍यक्ष ने इसे एक बहुत बड़ा मुद्दा बताते हुए कहा कि महिलाओं के साथ गरिमा से पेश आना चाहिए.

गुरुवार को एक भारतीय पत्रकार ने टाटा के कार्यकारी के खिलाफ आरोप लगते हुए अपने ट्विटर खाते पर स्क्रीनशॉट पोस्ट किए थे. जसिके बाद ऑटोमोटर्स कंपनी ने ये कदम उठाया है. इस अभियान के तहत अबतक माइक्रोबब्लॉगिंग साइट का इस्तेमाल करते हुए मनोरंजन, राजनीति और मीडिया में कई महिलाओं ने अपने साथ हुए दुर्व्यवहार का जिक्र किया है.

मुंबई स्थित कंपनी के ह्यूमन रिसोर्स विभाग ने ट्विटर पोस्ट में कहा कि टाटा मोटर्स हमेशा हर किसी के लिए एक सम्मानजनक और सुरक्षित कार्यस्थल सुनिश्चित करने के लिए प्रयास करता है. इस तरह के किसी भी आरोप की जांच की जाती है और उचित कार्रवाई तुरंत की जाती है." मामले के मुताबिक कानून के अनुसार स्थापित एक आंतरिक पैनल द्वारा मामले की जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें : इंतजार ख़त्म : काइनेटिक ने भारत में लांच कर दी अपनी ये 6 नई दमदार सुपरबाइक

First published: 12 October 2018, 15:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी