Home » बिज़नेस » Mobile sales did not affect the slowdown, this Chinese company was on top
 

मोबाइल की बिक्री पर नहीं पड़ा मंदी का असर, चीन की ये कंपनी रही टॉप पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 August 2019, 11:55 IST

ऑटो सेक्टर मंदी की मार से जूझ रहा है, लेकिन मोबाइल बाजार पर मंदी का असर नहीं पड़ा है. चीन की मोबाइल निर्माता शाओमी अब भी देश की सबसे बड़ी मोबाइल बिक्रेता बनी हुई है. आईडीसी इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक स्मार्टफोन की शिपमेंट अप्रैल-जून तिमाही के दौरान 10 फीसदी बढ़कर 37 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई, जो तिमाही के लिए सबसे अधिक है.

स्मार्टफोन बिक्री में शाओमी सबसे आगे रहा. जिसकी बाजर हिस्सेदारी 28.3 प्रतिशत रही. जबकि सैमसंग दूसरे स्थान पर 16.6 प्रतिशत, वीवो और ओप्पो ने क्रमशः जून तिमाही में अपने शिपमेंट को 31.6 प्रतिशत और 41 प्रतिशत तक बढ़ाया. चीन की एक अन्य कंपनी रियलमी वर्तमान में पांचवां सबसे बड़ा खिलाड़ी है, जिसकी बिक्री में इस साल 602 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. जबकि FMCG के लिए स्मार्टफोन में ऑनलाइन चैनल के माध्यम से बिक्री का हिस्सा 36 से 40 प्रतिशत के बीच है.

 

इस साल अप्रैल-जून में एफएमसीजी की वॉल्यूम ग्रोथ घटकर 6.2 फीसदी रह गई, जो तीन साल पहले 13.2 फीसदी थी. ग्रामीण बाजार में विकास दर 5.9 प्रतिशत रही, जो कई वर्षों के बाद शहरी की तुलना में कम थी. हालांकि ऑटो सेक्टर में मंदी जारी है. देश की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की बिक्री जुलाई तक लगातार छह तिमाहियों तक गिर गई.

जून में इसकी बिक्री में 17 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और यह 36 फीसदी की गिरावट के साथ दो दशकों में सबसे निचले स्तर पर आ गई. हुंडई मोटर इंडिया की जुलाई में बिक्री में 10 फीसदी की गिरावट देखी गई, जो जून में 3.2 फीसदी की गिरावट के बाद हुई.

तीन बड़ी तेल कंपनियों ने रोकी एयर इंडिया की तेल सप्लाई, 4,500 करोड़ का है बकाया

First published: 26 August 2019, 11:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी