Home » बिज़नेस » Modi 2.0: Aviation sector to prosper under new 100 days plan, govt may take decision on Air India, Jet Airways
 

Modi 2.0: मोदी सरकार का मास्टर प्लान, आम लोग जल्द ही अपने शहर से कर सकते हैं हवाई यात्रा

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2019, 19:09 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को दूसरी बार अपने पद और गोपनियता की शपथ लेंगे. पीएम मोदी के इस कार्यकाल से जनता को काफी उम्मीदें हैं. आम लोगों की आकांक्षाओं का ख्याल रखते हुए प्रधानमंत्री मोदी की टीम अभी से एक्शन में दिख रही है. मोदी सरकार ने 100 का लक्ष्य निर्धारित किया है और इसके लिए ताबरतोड़ फैसले लेने शरू भी हो गए हैं. फ़िलहाल भारत में एविएशन सेक्टर बुरे दौर से गुजर रहा है. कैबिनेट की गठन के बाद इसमें सुधार के लिए सरकार कई बड़े फैसले ले सकती है.

डीएनए इंडिया न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार 100 दिनों के अंदर रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम को मूर्त रूप देकर सफल बनाना चाहती है. "उड़ान योजना" के तहत केंद्र सरकार 100 दिनों के भीतर 10 नए एयरपोर्ट को अंतर्गत चालू कर सकती है. यानि 10 नए शहर हवाई मार्ग से जुड़ सकेंगे. बहुत जल्द "उड़ान योजना" के तीसरे स्टेज को शुरू किया जा सकता है.

 

उड़ान योजना

वर्तमान में उड़ान योजना अपने दूसरे चरण जाएंगे. सरकार का लक्ष्य है कि, देश में मौजूद एयरपोर्ट की संख्या को 100 से जल्द से जल्द 150 तक ले जाना है. ख़बरों की मानें तो प्रधानमंत्री कार्यालय ने सख्त निर्देश दिया है कि 30 दिनों के भीतर Air India, Jet Airways और पवन हंस के मामलों को सुलझाया जाए.

जेट एयरवेज संकट को दूर करने के लिएसरकार बैंकों के माध्यम से लगातार कोशिश कर रही है. Air India को लेकर भी मोदी सरकार जल्द ही नए टर्म्स और कंडीशन्स के साथ आगे बढ़ सकती है और 100 फीसदी विनिवेश की योजना पर फैसले ले सकती है. इसके अलावा सरकारी हेलीकॉप्टर कंपनी पवन हंस विनिवेश के मुद्दे को भी पूरी तरह सुलझाना भी प्राथमिक मुद्दा बनी हुई है.

First published: 28 May 2019, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी