Home » बिज़नेस » Modi 2.0: Niti Aayog Meeting, PM Narendra Modi focuses on farmers employment and export
 

PM मोदी बेरोजगारों और किसानों को दे सकते हैं बड़ी सौगात, NITI आयोग की पहली बैठक में दिए संकेत

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2019, 16:12 IST

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में शनिवार को नीति आयोग की पहली बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री ने की. इस बैठक में कैबिनेट मिनिस्टर्स, राज्यों के मुख्यमंत्री और केंद्रशासित प्रदेशों के प्रमुख ने हिस्सा लिया. इस महत्वपूर्ण बैठक में कृषि, उद्योग सहित कई अहम मामलों पर चर्चा हुई. पीएम मोदी ने कहा कि 2024 तक भारतीय अर्थव्यवस्था को 5000 बिलियन डॉलर के स्तर तक पहुंचाने की दिशा में हम सभी को एक साथ मिलकर काम करना होगा, राज्यों के सहयोग के बिना यह लक्ष्य संभव नहीं है.

 

किसानों की आय दोगुनी

हमारा देश कृषि प्रधान है किसानों की खुशहाली के बगैर देश के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती. प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि साल 2022 तक हम किसानों की आमदनी दोगुनी करना चाहते हैं और इसके लिए तेजी से काम हो रहा है. पीएम ने कमजोर मानसून पर चिंता जताते हुए कहा कि इससे निपटने की जरूरत है. राज्य और केंद्र सरकार को मिलकर सूखे की गंभीर समस्या से लड़ना होगा. उन्होंने नीति आयोग की बैठक में उपस्थित मुख्यमंत्रियों से निर्यात बढ़ाने की अपील की.

 

NITI आयोग

प्रधानमंत्री ने फिर से ''सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास'' को दोहराते हुए कहा कि केंद्र सरकार सबके साथ काम करेगी. गरीबी, बेरोजगारी और प्रदूषण जैसी कुछ ऐसी जटिल समस्याएं हैं जिसका सामना हमें मिलकर करना होगा. गौरतलब है कि NITI (नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया) आयोग देश की विकास की विकास के लिए योजना बनाने और फंड्स के एलोकेशन के लिए बनाई गई एक कमिटी है जिसने योजना आयोग की जगह ली थी. प्रधानमंत्री इसके अध्यक्ष होते हैं और वर्तमान में राजीव कुमार इसके उपाध्यक्ष हैं.

देश का निर्यात मई महीने में 3.93 फीसदी बढ़कर 30 अरब डॉलर पर पहुंच गया जो कि देश की अर्थव्यवस्था के लिए सकरात्मत संकेत है. वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक्स और रसायन क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन से कुल निर्यात बढ़ा है.

First published: 16 June 2019, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी